शराब तस्कर सुबोध का पूरा परिवार पिछले साल गया था जेल, दर्ज हैं कुल 14 एफआईआर

लाइव सिटीज, पटना/अमित जायसवाल : जक्कनपुर में पुलिस टीम पर जानलेवा हमला और गोलीबारी करने के मामले में कार्रवाई की गई है. जांच करते हुए पुलिस टीम ने हमला करने में शामिल रहे दो लोगों को अपने कब्जे में लिया है. इसमें नूर आलम और प्रमोद कुमार शामिल हैं. ये दोनों ही शराब तस्कर सुबोध पासवान के पक्ष के बताए जाते हैं. इन दोनों से ही पुलिस की टीम पूछताछ कर रही है.

हमले के बाद पटना पुलिस की जांच में एक चौंकाने वाली बात सामने आई है. शराब तस्कर सुबोध पासवान और उसका पूरा परिवार पिछले साल जेल गया था. जेल जाने वालों में सुबोध की मां भी शामिल है. पुलिस ने पूरे परिवार को शराब तस्करी और बरामदगी के मामले में गिरफ्तार किया था. इस बात की पुष्टि खुद पटना के एसएसपी उपेंद्र कुमार शर्मा ने की है.



एसएसपी के अनुसार सुबोध और उसके भाइयों समेत पूरे परिवार के उपर शराब तस्करी और आर्म्स एक्ट में कुल 14 एफआईआर दर्ज है. ये मामले सचिवालय, गर्दनीबाग और जक्कनपुर सहित दूसरे थानों में दर्ज हैं. खुद सुबोध साल 2018 में सचिवालय थाना से जेल गया था. इस मामले में उसके खिलाफ कोर्ट में चार्जशीट भी दाखिल की जा चुकी है. भाई विनोद पासवान भी जेल जा चुका है. दूसरे भाई भीखू पासवान के उपर 5, राजेश पासवान के उपर 3, दिनेश पासवान पर 2 और प्रमोद पासवान के उपर भी कई केस दर्ज हैं. पिछले 2 साल में इस पूरे परिवार के उपर 14 केस दर्ज किए गए हैं. इस मामले में पुलिस ने अपने बयान पर जक्कनपुर थाना में एफआईआर दर्ज की है.

— ट्रेन से बैग लेकर उतरने की मिली थी सूचना
एसएसपी के अनुसार एएसआई आशुतोष अपनी टीम के साथ सुबह में मीठापुर सब्जी मंडी के पास मौजूद थे. मंडी में जाम और भीड़भाड़ न लगे, इसका उन्हें ध्यान रखना था. क्वीक मोबाइल के जवानों के जरिए उन्हें सूचना मिली थी कि ट्रेन से बैग लेकर कुछ लड़के उतरे हैं. जिसमें शराब की खेप हो सकती है.

इसी सूचना के आधार पर एएसआई अपनी टीम के साथ वहां पर पहुंचे. रेलवे ट्रैक के पास उन्हें बैग रखा हुआ मिला भी. जब शराब तस्कर सुबोध पासवान को टीम पकड़ने गई तो उनके उपर हमला किया गया. पुलिस टीम पर पथराव किया गया था. घेर कर उनकी पिटाई की गई. उनके उपर शराब तस्करों की तरफ से गोली चलाई गई.

इस घटना में एएसआई आशुतोष कुमार और होमगार्ड का एक जवान बुरी तरह से घायल है. एएसआई को पैर में गोली भी लगी. जबकि शराब तस्कर सुबोध को भी दो जगहों पर गोली लगी है. एसएसपी के अनुसार पुलिस की तरफ से गोली नहीं चलाई गई है. उपद्रव करने वालों ने जो गोली चलाई, उसी से सुबोध घायल हो गया.