एलजेपी के प्रदेश अध्यक्ष ने लाइव सिटीज से खुलकर की बात, सीट शेयरिंग को लेकर प्रेशर पॉलिटिक्स से इनकार

लाइव सिटीज, सेंट्रल डेस्क : बिहार में सियासी उठापटक का दौर जारी है. खासकर जदयू व लोजपा की तनातनी एनडीए के लिए मुसीबत बन गयी है. लोजपा अपने स्टैंड पर अड़ी हुई है. पार्टी नेताओं से राय ली गयी है. इस बीच दिल्ली में लोजपा संसदीय दल की बैठक के बाद प्रदेश अध्यक्ष प्रिंस राज ने कहा कि अभी तक हमने कोई फैसला नहीं लिया है. उन्होंने कहा कि हम अपने स्टैंड पर कायम हैं. हमारी पार्टी के नेताओं का मत वही है, जो पहले था. बिहार सरकार से नाराजगी को लोजपा प्रदेश अध्यक्ष ने खुलकर जाहिर किया.

प्रिंस ने कहा कि हमने अपने नेताओं से यह राय ली है ​कि बिहार में सियासी गलियारों की मौजूदा हालात क्या है? क्या अभी चुनाव कराना संभव है? उन्होंने यह भी कहा कि हमारी कोशिश रहेगी कि एनडीए में बिखराव न आये. सभी मिलकर चुनाव लड़े. जदयू के राष्ट्रीय अध्यक्ष व मुख्यमंत्री नीतीश कुमार से मतभेद के मसले पर कहा कि हम उनके सामने कोई एजेंडा पेश नहीं कर रहे हैं. हमारी कोई मांग नहीं. हम केवल प्रदेश की वस्तु स्थिति को रेखांकित कर जनहित के मुद्दों को सामने रख रहे हैं.



लोजपा प्रदेश अध्यक्ष ने मुख्यमंत्री पर निशाना साधा. कहा कि यदि कोरोना में टेस्टिंग कम हो रही है और उसे लेकर हमने आवाज उठाई तो इसमें प्रेशर पॉलिटिक्स कहां से आ गया. हमलोग कोई प्रेशर पॉलिटिक्स नहीं कर रहे हैं. एक राजनेता के तौर पर हमारा यह काम है. बाढ़ में  राहत सामग्री लोगों तक नहीं पहुंची. हमने इन मुद्दों को उठाया. जनता यदि त्रासदी के दौर से गुजर रही, तो उसे सरकार के सामने रखना गलत बात नहीं है. उन्होंने साफ कहा कि सीटों के मसले पर चिराग की कोई बात नीतीश कुमार से नहीं हुई.