‘आसमान पर मत थुकिए ललन सिंह जी, खुद पर पड़ेगा’ लोजपा ने जेडीयू सांसद को दी नसीहत

लाइव सिटीज, सेंट्रल डेस्क : जेडीयू और लोजपा के बीच बयानबाजी तेज हो गयी है. जेडीयू सांसद ललन सिंह द्वारा चिराग पासवान को कालिदास कहे जाने पर लोजपा ने करारा प्रहार किया है. पार्टी प्रवक्ता अशरफ अंसारी ने सांसद ललन सिंह को सुरदास बताते हुए कहा की ललन सिंह आसमान पर थूकने का प्रयास कर रहे हैं लेकिन उन्हें नहीं मालूम की आसमान पर थूकने पर खुद पर पड़ता है.

अशरफ अंसारी ने आगे कहा कि यह बात ललन सिंह भलीभांती जानते हैं कि बिहार में कोरोना की टेस्टिंग कम हो रही है. मुंगेर जिलापदाधिकारियों की बैठक में उनके ही पार्टी के नेताओं ने कम टेस्टिंग को लेकर आवाज उठाने का काम किया था. जिसपर ललन सिंह हामी भरी थी. अब प्रधानमंत्री ने ट्वीट कर टेस्टिंग बढ़ाने की बात कही तो इनलोगों को मिर्ची लग गयी.



चिराग पासवान ने बिहार में कोरोना के बढ़ते प्रभाव पर प्रधानमंत्री के ट्वीट को सिर्फ रिट्वीट करने का काम किया है. साथ ही बिहार सरकार से प्रधानमंत्री की चिंता दूर करने की बात कही है. ऐसे में जेडीयू को अगर मिर्ची लग रही है तो इसका इलाज कुछ भी नहीं है.

उधर लोजपा प्रदेश प्रवक्ता संजय सिंह ने ललन सिंह के बयान की भर्त्सना करते हुए कहा कि ललन बाबू भ्रमित है और चिराग पासवान पर बोलने लायक़ नहीं है. ललन जी टेस्टिंग के विषय पर प्रधानमंत्री को निशाना बनाना चाहते थे लेकिन कन्फ़्यूज़न में चिराग़ पासवान पर बोल रहे हैं.

बिहार में कोरोना टेस्टिंग कम हो रही है, यह सिर्फ़ बिहारी या लोक जनशक्ति पार्टी ही नहीं बल्कि प्रधानमंत्री बोल रहे है. प्रधानमंत्री जब बोलते है तो उसे आलोचना नहीं सुझाव समझना चाहिए. लेकिन जेडीयू चिराग पासवान की आड़ में प्रधानमंत्री पर हमला कर रही है, जो सहीं नहीं है. कहीं पर निगाहें कहीं पर निशाना को चरितार्थ कर रहे है ललन सिंह.

चिराग पासवान ने बिहार सरकार को कमियां बताकर उसे दूर करने का सुझाव देने का काम किया. लेकिन जेडीयू ने इसे दूसरे अर्थों में लेते हुए लोजपा को ही अपना दुश्मन मान बैठी है. ललन सिंह जैसे सुरदास के बड़बोलेपन के कारण निश्चित ही मुख्यमंत्री नीतीश कुमार की चिंता बढ़ जाएगी.