ममता बनर्जी के बंगाल में इंदिरा गांधी के आपातकाल जैसे हालात : सुशील मोदी

लाइव सिटीज, सेंट्रल डेस्क : प्रदेश भाजपा कार्यालय में आयोजित ‘आपातकाल-भारतीय लोकतंत्र का एकमात्र काला अघ्याय’ विषयक समारोह को सम्बोधित करते हुए उपमुख्यमंत्री सुशील कुमार मोदी ने कहा कि जिस तरह से इंदिरा गांधी ने 1975 में आपातकाल लागू कर पूरे देश में भय व आतंक का माहौल बना दिया था. उसी तरह आज ममता बनर्जी ने पश्चिम बंगाल में हालात बना दिया है. राजनीतिक हिंसा के जरिए आतंक फैलाने और जयश्री राम का नारा लगाने वालों के जेलों में बंद कर आम लोगों का दमन किया जा रहा है. राजनीतिक सभा, रैली करने से रोका जा रहा है.

मोदी ने कहा कि इंदिरा गांधी ने 1975 में इमरजेंसी अधिरोपित कर आरएसएस पर प्रतिबंध और अखबारों पर सेंसरशीप लगा कर लोकतंत्र का गला घोंटी थी. किन्तु 19 महीने की यातना और प्रताड़ना के बाद जब 1977 में चुनाव हुआ तो खुद बुरी तरह से हार गई. ममता बनर्जी का भी अगर यही रवैया रहा तो आगामी विधान सभा चुनाव में हार तय है.

सुशील मोदी ने कहा कि जेपी ने गैर कांग्रेसी दलों को कांग्रेस के भ्रष्टाचार और इंदिरा गांधी की तानाशाही के विरुद्ध एकजुट किया. लालू प्रसाद जैसे लोग जो इमरजेंसी के विरोध में जेल गए थे, आज उसी कांग्रेस से हाथ मिला लिया जिसने आपातकाल लागू कर न केवल लोकतंत्र की हत्या की बल्कि पूरे देश में भय व आतंक कायम कर जनता पर अत्याचार किया.

भाजपा हर साल 25 जून को इस काला दिन का स्मरण इसलिए करती है कि ताकि इंदिरा गांधी के अंजाम से सबक लेकर कोई दूसरा देश में आपातकाल लागू करने,संविधान व लोकतंत्र का गला घोंटने की हिम्मत नहीं करें.

Be the first to comment

Leave a Reply

Your email address will not be published.


*