Breaking : मनीषा दयाल पर मेहरबान एसएम राजू गैंग के आईएएस सुनील कुमार की तलाश शुरु

मनीषा दयाल, manisha dayal, AASRA GRIH, bihar, bihar khabar, bihar news, bihar samachar, khabar bihar, Muzaffarpur Shelter Home, patna, PATNA AASRA GRIH, patna news, Patna Samachar, PATNA SHELTER HOME, RAJIV NAGAR AASRA GRIH, shelter home, आसरा गृह, आसरा होम, न्यूज़, पटना, पटना आसरा गृह, पटना न्यूज, पटना शेल्टर होम, बिहार, बिहार खबर, बिहार न्यूज, हिंदी बिहार न्यूज़, हिंदी समाचार

लाइव सिटीज, सेंट्रल डेस्क : हुस्न के जलवे से पटना के पेज-3 पार्टियों की सबसे हॉट सेलिब्रिटी बनी मनीषा दयाल के साथ IAS सुनील कुमार का कनेक्शन अब बहुत करीब से खंगाला जा रहा है . सुनील कुमार की वजह से ही मनीषा दयाल को बिहार के समाज कल्याण विभाग में डायरेक्ट एंट्री मिली थी . तब सुनील कुमार समाज कल्याण विभाग में डायरेक्टर पद पर तैनात थे . लाइव सिटीज ने 15 अगस्त को इस मामले में सबसे पहले खुलासा किया था . बिहार सरकार की विभिन्न जांच एजेंसियों ने अब तफ्तीश आगे बढ़ा दी है .

सुनील कुमार समाज कल्याण विभाग से ही 31 मई 2018 को रिटायर हुए हैं . मनीषा दयाल के कॉन्टेक्ट्स की पड़ताल कर रही टीम का मानना है कि सुनील कुमार ने समाज कल्याण विभाग में बहुत सारा ओल-झोल किया है . सुनील कुमार की पहचान बिहार के कई बड़े घोटालों में शामिल रहने के आरोपी IAS एस एम राजू गैंग के खास किरदार के रूप में भी की जा रही है . राजू अभी निलंबित हैं . पटना हाईकोर्ट से उन्हें अग्रिम जमानत मिली हुई है .

रिटायर आईएएस सुनील कुमार
रिटायर आईएएस सुनील कुमार

यह भी पढ़ें – 
EXCLUSIVE : पकड़ा गया मनीषा दयाल को समाज कल्‍याण विभाग में इंट्री दिलाने वाला IAS

भरोसे के सूत्र बता रहे हैं कि पुलिस रिमांड की अवधि के दौरान हुई पूछताछ में मनीषा दयाल और चिरंतन कुमार ने IAS सुनील कुमार से अपनी जान – पहचान और मुलाकात कबूल कर ली है . वैसे जांच एजेंसियों को अब तक यह पता नहीं लग पाया है कि रिटायरमेंट के बाद सुनील कुमार कहां निवास कर रहे हैं . शुक्रवार को अवकाश होने के कारण समाज कल्याण विभाग के पुराने कर्मचारियों से इस बाबत जानकारी नहीं जुटाई जा सकी . अब उस ड्राइवर की पहचान की जा रही है , जो सुनील कुमार की तैनाती के दौरान सरकारी गाड़ी से उन्हें यहां – वहां पहुंचाने जाया करता था .

निलंबित आईएएस एसएम राजू
निलंबित आईएएस एसएम राजू

मनीषा दयाल और सुनील कुमार पहले से जुड़े हुए थे . दयाल फैमिली के साथ सुनील कुमार का रिश्ता गया में ही बना था . तब सुनील कुमार गया में डीआरडीए के डायरेक्टर पद पर पोस्टेड थे . मनीषा दयाल से पहले मनीषा का भाई मनीष दयाल करीबी बना . इसके सूत्रधार भी विवादास्पद IAS एस एम राजू ही माने जा रहे हैं . फिर सुनील कुमार जब जिलाधिकारी बनकर लखीसराय में तैनात किए गए, तब मनीषा के भाई मनीष दयाल ने अपनी कंपनी के माध्यम से सरकारी खजाने को चपत लगाना शुरु किया . इस दरम्यान एसएम राजू भी इधर ही तैनात थे . प्लांटेशन के नाम पर मनीष दयाल ने बड़ी गड़बड़ी की . लखीसराय के आरटीआई एक्टिविस्ट टुनटुन सिंह की शिकायत पर तब सुनील कुमार के खिलाफ पुलिस थाने में मुकदमा भी दर्ज किया गया था .

मनीषा दयाल

लखीसराय से हटाए जाने के बाद सुनील कुमार पटना में समाज कल्याण विभाग के मुख्यालय में डायरेक्टर पद पर आ गए थे . उनके आने के बाद ही मनीषा दयाल ने पटना आसरा होम का का ठेका हासिल किया . इस ठेके को देने में समाज कल्याण विभाग ने मनीषा दयाल के लिए कायदे – कानून को किनारे रख दिया . नियम था कि 3 वर्षों से कम अनुभव की संस्था को काम नहीं मिलेगा . पर यहां तो मनीषा दयाल का जलवा चला और वह काम ले गई . फिर इसके बाद मनीषा दयाल के पटना आसरा होम में क्या-क्या हुआ, अब सबके सामने है . सरकारी पैसे से मनीषा दयाल की खूबसूरती बढ़ती गई और उधर आसरा होम में संवासिनों की मौत का सिलसिला शुरु हो गया . जांच में लगी टीम के वरिष्ठ अधिकारी कहते हैं कि सुनील कुमार के बचने का तो अब कोई रास्ता ही नहीं है . वे जरुर नपेंगे .

About Md. Saheb Ali 3281 Articles
Md. Saheb Ali

Be the first to comment

Leave a Reply

Your email address will not be published.


*