बोलीं मीरा कुमार : साबरमती से शुरू करूंगी प्रचार, समर्थन के लिए नीतीश को भी लिखी हूं खत

लाइव सिटीज डेस्क : विपक्ष से राष्ट्रपति उम्मीदवार मीरा कुमार आज मीडिया से रूबरू हुईं. उन्होंने सभी मुद्दों पर खुल कर जवाब दिया.  राष्ट्रपति उम्मीदवार बनाये जाने पर मीरा कुमार ने सबसे पहले कांग्रेस अध्यक्ष सोनिया गांधी और अन्य विपक्षी दलों का शुक्रिया अदा किया. बता दें कि अभी तक उन्हें 17 विपक्षी दलों का समर्थन प्राप्त हुआ है. उन्होंने बिहार के सीएम नीतीश कुमार पर  और चुनाव प्रचार को लेकर भी बेबाक जवाब दिया. 

बता दें कि इन दिनों एनडीए से राष्ट्रपति उम्मीदवार रामनाथ कोविंद कई राज्यों में घूम कर चुनाव प्रचार कर रहे हैं.  जब इस पर मीरा कुमार से पूछा गया कि आप बिहार से हैं तो आप बिहार से राष्ट्रपति चुनाव के लिए प्रचार शुरू करेंगी या कहीं और से. तो उन्होंने मुस्कुराते हुए कहा कि मैं अपना चुनाव प्रचार साबरमती गुजरात से करुँगी.

मीरा कुमार ने बताया कि उन्होंने सभी दलों को खत लिख कर आग्रह किया है कि वे सब उन्हें समर्थन दें. मीरा कुमार  ने कहा कि वे विचारधारा की लड़ाई लड़ रहीं हैं. बिहार के मुख्यमंत्री नीतीश कुमार द्वारा उनकी जगह एनडीए उम्मीदवार रामनाथ कोविंद को समर्थन देने पर कहा कि मैंने नीतीश कुमार को भी खत लिखा है. उनका समर्थन देना या नहीं देना पूरी तरह उन पर और  उनकी पार्टी पर निर्भर करता है. 

मीरा कुमार ने अपनी विचारधारा को लेकर कहा कि वे प्रेस की आजादी, गरीबी उन्मुक्तता, लोकतान्त्रिक  समाजिक न्याय में आस्था रखती हैं. उन्होंने जातिगत राजनीति पर जम कर हमला बोला. मीरा कुमार ने कहा कि देश में इससे पहले भी तथाकथित उच्च जाति के राष्ट्रपति बने, पर कभी किसी ने उनकी जाति को मुद्दा नहीं बनाया. सबने उनके गुणों और काबिलियत को देखा. लेकिन मैं देख रही हूँ कि इस बार सबसे ज्यादा दलित- दलित कह कर जातिगत मुद्दों को उठाया जा रहा है. मैं इसमें विश्वास नहीं करती. उन्होंने कहा कि मेरे विचार से इस जाति को ही एक गठरी में बाँध कर जमीन के बहुत भीतर गाड़ देना चाहिए. देश में जातिगत राजनीति नहीं होनी चाहिए.

सुषमा स्वराज द्वारा लगाये गए आरोप पर उन्होंने कहा कि मेरे लोकसभा अध्यक्ष काल के समापन के दिन सभी दलों ने स्पीच दिया. वो रिकॉर्ड पर है. मेरे कार्यशैली पर आज तक कभी किसी ने आरोप नहीं लगाया. मैंने कभी किसी के साथ पक्षपातपूर्ण व्यवहार नहीं किया.

यह भी पढ़ें-  चंदवा की उम्मीद : बाबूजी पीएम न बन सके, पर नीतीश चाहें तो मीरा बन जाएं राष्ट्रपति

अब बिहार की बेटी ने दी सोशल मीडिया पर दस्तक, आते ही छा गयीं