एमएचए ने गैलेंट्री अवॉर्ड्स की लिस्ट की जारी, लेकिन उसमें नहीं दिखा बिहार का नाम

पटना/अमित जायसवाल : स्वतंत्रता दिवस पर प्रदान किये जाने वाले पुलिस मेडल फॉर गैलेंट्री, प्रेसिडेंट पुलिस मेडल और पुलिस मेडल की लिस्ट को सेंट्रल होम मिनिस्ट्री की तरफ से शुक्रवार को जारी कर दिया गया है. लेकिन आश्चर्य वाली बात यह है कि इस लिस्ट से बिहार पूरी तरह से गायब है. वीरता और पराक्रम के लिए सभी राज्यों की पुलिस और पैरा मिलिट्री फोर्सेज को इन तीनों कैटेगरी में हर साल अवार्ड्स दिए जाते हैं. लेकिन 2020 के स्वतंत्रता दिवस की जो लिस्ट सेंट्रल होम मिनिस्ट्री की तरफ से जारी की गई, उसे देख कर सबके होश उड़ गए. पुलिस मेडल फॉर गैलेंट्री के लिए इस बार कुल 215 अवार्ड दिये जाएंगे. सबसे अधिक 81 गैलेंट्री अवार्ड जम्मू-कश्मीर की पुलिस को मिलेंगे. जबकि दूसरे नम्बर पर सीआरपीएफ है. कुल 55 अवार्ड मिलेंगे. इस कैटेगरी में बिहार कहीं नहीं है.

दूसरी कैटेगरी प्रेसिडेंट पुलिस मेडल की है. कुल 80 अवार्ड दिए जाएंगे. इसमें पहला स्थान इंटेलिजेंस ब्यूरो का है. कुल 8 अवार्ड मिलेंगे. जबकि 6 अवार्ड के साथ उत्तर प्रदेश दूसरे और 5 अवार्ड के साथ महाराष्ट्र तीसरे स्थान पर है. इस कैटेगरी में भी बिहार कहीं नहीं है.
तीसरी कैटेगरी पुलिस मेडल की है. इस बार इस कैटेगरी में कुल 631 अवार्ड दिए जाएंगे. इस कैटेगरी में उत्तर प्रदेश की पुलिस ने बाजी मारी है. इनके हाथ कुल 73 अवार्ड आये हैं. 59 अवार्ड के साथ दूसरे नम्बर पर सीआरपीएफ, 46 अवार्ड के साथ बीएसएफ तीसरे और 39 अवार्ड के साथ महाराष्ट्र चौथे स्थान पर है. इस कैटेगरी में भी बिहार कहीं नहीं है.



इस बार बिहार क्यों पीछे रहा? क्या बिहार से पुलिस अफसरों और जवानों के नाम होम मिनिस्ट्री को नहीं भेजे गए थे? इन सवालों का जवाब जानने के लिए बिहार पुलिस मुख्यालय के अधिकारियों से बात करने की कोशिश की गई. लेकिन जवाब मिली ही नहीं.