गायब तेजस्वी लौट आए पटना, मध्यावधि चुनाव का किया दावा, नीतीश को ऑफर देने की बात को नकारा

लाइव सिटीज,सेंट्रल डेस्क : बिहार से गायब तेजस्वी यादव पटना लौट आए हैं. पटना हवाई अड्डा पर उन्होंने पत्रकारों के कई सवालों का जवाब दिया. आरजेडी से नीतीश कुमार को ऑफर दिए जाने के सवाल पर उन्होंने साफ कर दिया कि यह बात पूरी तरह से अफवाह है. पार्टी के राष्ट्रीय अध्यक्ष लालू यादव जी ने पहले ही साफ कर दिया है कि यह सब अब संभव नहीं है. ऐसे में इस प्रकार की बातों का कोई औचित्य ही नहीं रह जाता.

बिहार में मध्यावधि चुनाव होने के अपने दावों को दोहराते हुए उन्होंने कहा कि हम और हमारी पार्टी के कार्यकर्ता इसकी तैयारी में जुट गए हैं. मैंने पहले ही कह दिया था कि बिहार की यह सरकार ज्यादा दिन तक नहीं चलने वाली है. आगे-आगे देखते जाइए बीजेपी इनसे क्या-क्या काम करवाने जा रही है. बिहार की यह विडंबना है कि तीसरे नंबर की पार्टी सत्ता में हैं.



उधर नीतीश कुमार पर तंज कसते हुए तेजस्वी ने कहा कि जिनको अपने चेहरे पर इतना घमंड था उनको तो प्रदेश की जनता ने बता दिया. चुनाव आयोग ने उन्हें तीसरे नबंर का दर्जा दिया. इन सब लोगों ने मिलकर चोर दरवाजे से सरकार बनाने का काम किया है. जिसे प्रदेश की जनता देख रही है. यह सरकार ज्यादा दिनों तक नहीं चलने वाली है. इनलोगों ने प्रदेश की जनता का अपमान किया है.

बता दें कि तेजस्वी के बिहार से गायब रहने को लेकर लगातार सत्तापक्ष की ओर से आवाज उठायी जा रही थी. तरह-तरह के बयान दिए जा रहे थे. हम पार्टी के मुखिया जीतनराम मांझी ने तो यहां तक कह दिया था कि वो हनीमून मनाने गए हैं. उधर सत्तापक्ष की तरफ से इस तरह के सवाल उठाए जाने पर राबड़ी देवी ने प्रतिकार किया था.

राबड़ी देवी ने कहा था कि तेजस्वी किसी ना किसी काम से बिहार से बाहर जाते हैं. क्या बीजेपी वाले या अन्य दल के लोग बिहार से बाहर नहीं जाते हैं क्या? राबड़ी देवी के इस बयान पर पलटवार करते हुए बीजेपी विधानपार्षद नवल किशोर यादव ने कहा कि तेजस्वी कहां जाते हैं या नहीं जाते, इसमें हम लोगों की कोई दिलचस्पी नहीं है. वो नेता प्रतिपक्ष है इसलिए बिहार से बाहर रहने पर सवाल किया जाता है.