गोरक्षा पर मोदी सरकार का नया प्लान, अब गायों का भी बनेगा आधार कार्ड !

लाइव सिटीज डेस्क/पटनाः खबर थोड़ी चौंकाने वाली जरूर है लेकिन ऐसा करने की तैयारी केंद्र सरकार ने सच में कर ली है. गोरक्षा को लेकर देश में बवाल मचा हुआ है. यूपी-बिहार समेत कई राज्यों में अवैध बूचड़खानों को सील भी कर दिया गया. इस बीच बीच पशुओं की सुरक्षा और देखरेख को लेकर केंद्र सरकार की एक अहम योजना के बारे में पता चला है.

केंद्र गायों के लिए भी आधार कार्ड जैसी योजना लागू करना चाहता है. सरकार ने यह जानकारी मंगलवार को सुप्रीम कोर्ट में दी. सरकार ने बताया कि वह यूआईडी जैसी व्यवस्था के जरिए गायों को लोकेट और ट्रैक करना चाहती है. इससे गाय की नस्ल, उम्र, रंग और बाकी चीजों का ध्यान रखा जा सकेगा. बता दें कि केंद्रीय गृह मंत्रालय ने इस बारे में अपनी सिफारिश केंद्र सरकार को सौंपी है.

केंद्र सरकार ने सुप्रीम कोर्ट में दाखिल अपनी रिपोर्ट में कहा कि भारत और बांग्लादेश की सीमा पर बड़े पैमाने पर पशुओं की तस्करी हो रही है. सरकार के मुताबिक, पशुओं की हिफाजत और देखरेख के मुद्दे पर जॉइंट सेक्रटरी की अगुआई में एक कमिटी का गठन किया गया, जिसने कुछ खास सिफारिशें की हैं.

अपनी रिपोर्ट में केंद्र ने कहा है कि आवारा पशुओं की सुरक्षा और देखरेख का जिम्मा राज्य सरकार का है. एक अन्य सिफारिश के मुताबिक, हर जिले में कम से कम 500 पशुओं की क्षमता वाला संरक्षण गृह होना चाहिए.

इससे पशुओं की तस्करी में कमी आएगी.

केंद्र ने अपनी रिपोर्ट में यह भी कहा कि देश की हर गाय और उसके बछड़े को ट्रैक करने के लिए यूनिक आइडेंटिफिकेशन नंबर होना चाहिए.