लालू पटना में कोई रैली कर रहे हैं, मुलायम जानते तक नहीं

लाइव सिटीज डेस्क :  समाचार एजेंसी पीटीआई से प्राप्त जानकारी के मुताबिक सपा सुप्रीमो  मुलायम सिंह यादव ने लालू यादव द्वारा विपक्षी एकता को प्रदर्शित करने, नरेंद्र मोदी नीत भाजपा सरकार के विरूद्ध सशक्त गठबंधन की संभावना तलाशने आगामी 27 मई को आयोजित होने वाली रैली में स्वयं के शामिल होने की संभावना से इन्कार किया है. गौरतलब हो कि लालू प्रसाद द्वारा आयोजित रैली में विपक्ष के कई दिग्गज नेताओं को आमंत्रित किया है. पश्चिम बंगाल की मुख्यमंत्री ममता बनर्जी तो पहले ही फोन कर लालू जी को अपने भाग लेने का भरोसा दिला चुकी हैं. 
लालू की रैली में भाग लेने की संभावना के बारे में जब मुलायम सिंह से बात की गई तो उनका जवाब था, ‘मुझे इस बारे में कोई जानकारी नहीं है.’ मुलायम का यह जवाब विपक्षी एकता के लिए राजद सुप्रीमो की विपक्षी एकाकी कोशिशों को परेशान कर सकता है.
मुलायम से यूपी चुनाव में अखिलेश और राहुल गांधी के बीच हुए बहुचर्चित चुनावी गठबंधन की जब चर्चा की गई तो उनका दो टूक जवाब था, ‘ इस संबंध में मुझसे कोई चर्चा नहीं की गई थी. अगर सपा—कांग्रेस के बीच गठबंधन न हुआ होता तो चुनाव में जो परेशानी झेलनी पड़ी उससे बचा जा सकता था.’       
सपा सुप्रीमो से जब उनके भाई शिवपाल सिंह यादव द्वारा बनाई गई नई पार्टी समाजवादी सेक्यूलर मोर्चा की चर्चा की गई तो उन्होंने इसका बचाव किया. वहीं स्वयं एवं पुत्र अखिलेश के बीच के तनावपूर्ण संबंध के बारे में चर्चा की गई तो उनका जवाब था, ‘ अगर किसी तरह का कोई गुस्सा था तो मिल—बैठकर उस पर चर्चा की जा सकती थी और उसका निदान निकाला जा सकता था. अगर ऐसा पहले कर लिया गया होता तो सपा की जैसी स्थिति हुई, उसकी नौबत ही नहीं आती.’ 
यहां यह गौरतलब है कि अखिलेश ने लालू की पटना के गांधी मैदान में आयोजित रैली में आने की पुष्टि की है और यह जानकारी भी दी है कि उक्त रैली में बसपा सुप्रीमो बहन जी मायावती भी शामिल होंगी. उन्होंने कहा, ‘ मैं 27 अगस्त को आयोजित लालू प्रसाद जी की बिहार रैली में शामिल रहूंगा. ‘अखिलेश ने यह जवाब तब दिया जब उनसे इस संभावना के बारे में पूछा गया कि क्या सपा और बसपा फिर से एका के सूत  में बंध सकते हैं तो उनका जवाब था, ‘अगर वहां भविष्य के किसी गठबंधन के बारे में ऐलान किया जाता है तो वह भी वहां होगा.’
राजद सुप्रीमो ने आगामी रैली के लिए देश की तमाम भाजपा विरोधी पार्टियों को राजद की महारैली में शामिल होने का आमंत्रण भेजा है. इसमें देश की अलग—अलग राजनीतिक दलों के तमाम विपक्षी नेताओं के शामिल होने की संभावना है.
यह भी पढ़ें-  बीमार लालू की सेहत सुधरी, बूथ पर पहुंचे वोट डालने
RJD की रैली से कांप रही है BJP