मुंगेर के नये एसपी व डीएम ने विधि व्यवस्था को बताया प्राथमिकता, घटना को लेकर की समीक्षा

लाइव सिटीज, सेंट्रल डेस्क: मुंगेर शहर में गुरुवार को आगजनी की घटना से बिगड़े विधि व्यवस्था के लिए जिम्मेदार मानते हुए निर्वाचन आयोग ने एसपी राजेश मीणा और डीएम लिपि सिंह का तबादला कर दिया. उनके स्थान पर गुरुवार की देर शाम को तत्काल विधि व्यवस्था को बहाल कराने की जिम्मेदारी देते हुए डीएम रचना पाटिल और एसपी मानवजीत सिंह ढिल्लों को तत्काल प्रभाव ग्रहण करने का निर्देश दिया. इसके बाद दोनों ने गुरुवार की देर शाम को मुंगेर पहुंचकर प्रभार ग्रहण किया.

वहीं देर शाम को प्रभार ग्रहण करने के बाद नव पदस्थापित डीएम और एसपी ने पत्रकारों को बताया कि विधि व्यवस्था को कायम करना उनकी प्राथमिकता है. इसके साथ ही डीएम ने कहा कि विकास के कार्यों को गति देने के साथ ही लोगों की समस्या को सुना जाएगा और निश्चित तौर पर लोगों को न्याय दिलाया जाएगा.



उन्होंने जिले वासियों से अपील करते हुए कहा कि मुंगेर की धरती ऐतिहासिक धरती है. लेकिन इस धरती को कुछ असामाजिक तत्वों के द्वारा बदनाम करने का प्रयास किया जा रहा है. इसी कारण उन्होंने जिले वासियों से अपील करते हुए कहा कि अफवाहों पर ध्यान नहीं दें. जिनके द्वारा गलती की गई है, उन्हें निश्चित तौर पर सजा मिलेगी. इसके लिए उन्हें आश्वस्त रहना चाहिए.

वहीं, एसपी ने बताया कि कठिन समय में उन्हें जिम्मेदारी सौंपी गई है. लेकिन निश्चित तौर पर मुंगेर की जनता और मीडिया के सहयोग से विधि व्यवस्था को कायम कर लिया जाएगा. उन्होंने कहा कि असामाजिक तत्वों को किसी भी कीमत पर नहीं बख्शा जाएगा. उन्होंने भी आम लोगों से पुलिस को सहयोग करने की बात कही.

एसपी ने कहा कि अधिकारियों से बात कर हालात के संबंध में जायजा लिया जा रहा है. हालात पूरी तरह से नियंत्रण में है. निश्चित तौर पर जल्दी विधि व्यवस्था को बहाल करा लिया जाएगा. इसके साथ ही डीएम और एसपी ने संयुक्त रुप से बताया कि मृतक के परिजनों से मुलाकात करेंगे. उनके द्वारा जो भी जानकारियां दी जाएगी या जो भी मदद मांगी जाएगी. यथा संभव मदद उनको पहुंचाया जाएगा.