मुंगेर एसपी लिपि सिंह ने मिनी गन फैक्ट्री का किया खुलासा, भारी मात्रा में हथियार के साथ तीन गिरफ्तार

लाइव सिटीज, सेंट्रल डेस्क : मुंगेर पुलिस को बड़ी कामयाबी हाथ लगी है. जिले के हवेली खड़गपुर में पुलिस द्वारा मिनी गन फैक्टरी का खुलासा किया गया है. मिनी गन फैक्टरी हवेली खड़गपुर थाना के मुढेरी गांव में चल रही थी, जिसकी सूचना मुंगेर पुलिस अधीक्षक लिपि सिंह को मिली थी. इसके बाद पुलिस अधीक्षक ने हथियार बनाने वाली इस अवैध फैक्टरी पर छापेमारी की. जहां से भारी मात्रा में हथियार बरामद किया गया है.

पुलिस अधीक्षक लिपि सिंह ने बताया कि मुढेरी गांव में छापेमारी के दौरान 9 एमएम की एक कार्बाइन, 22 बोर की एक राइफल, एक रिवाल्वर, 10 कट्टा, 7.65 एमएम की एक पिस्टल, अर्द्धनिर्मित 3 राइफल, अर्धनिर्मित 4 कार्बाइन, अर्धनिर्मित 1 कट्टा, अर्धनिर्मित 2 पिस्टल बरामद किए गए. इसके अलावा तीन बेस मशीन, दो ड्रिल मशीन, एक छोटी वेल्डिंग मशीन, तीन हैंड मशीन, आठ रेती जब्त किए गए. साथ ही कार्बाइन की 12 मैगजीन बरामद की गई और कार्बाइन में इस्तेमाल होने वाले कई स्प्रिंग भी मिले.



लिपि सिंह ने बताया कि छापेमारी के दौरान हथियार तस्करी के अंतर्जिला और अंतर्राज्यीय नेटवर्क को संचालित करने वाले सौरव को गिरफ्तार किया गया. सथ ही उसके भाई सुस्मित साव और पिता सुधीर शाह की भी गिरफ्तारी हुई. सौरव का पूरा परिवार इस रैकेट में शामिल था. यहां बनाए जा रहे हथियार बिहार के दूसरे जिलों के अलावा झारखंड, पश्चिम बंगाल और उत्तर प्रदेश में भी बेचे जा रहे थे.

एसपी लिपि सिंह को दो दिन पहले मुढेरी गांव में चल रही इस फैक्टरी की सूचना मिली थी. इसके बाद एसपी ने इस फैक्टरी की रेकी कराई. अनुमंडल पुलिस पदाधिकारी हवेली खड़गपुर के नेतृत्व में एक टीम का गठन किया गया. पुख्ता जानकारी मिलने के बाद पुलिस अधीक्षक लिपि सिंह ने खुद छापेमारी दल का नेतृत्व किया. छापेमारी दल में एसपी लिपि सिंह के अलावा एसडीपीओ संजय कुमार पांडे, खड़गपुर थानाध्यक्ष मिंटू सिंह, असरगंज थानाध्यक्ष स्वयंप्रभा, तारापुर थानाध्यक्ष अमरेंद्र कुमार, गंगटा थानाध्यक्ष मजहर मकबूल, संग्रामपुर थानाध्यक्ष सर्वजीत कुमार शामिल थे.