बिहार में बारिश के रुकते ही मुजफ्फरपुर में बढ़ने लगे AES के मामले, SKMCH पहुंचे 4 नए मरीज

लाइव सिटीज, सेंट्रल डेस्कः बिहार के मुजफ्फरपुर में एक बार फिर से चमकी बुखार के मरीजों की संख्या बढ़ने लगी है. दरअसल, दो दिन पहले बिहार के कई जिलों में बारिश हुई थी. मानसून ने दस्तक दिया था. लेकिन उसके बाद बारिश नहीं हुई. मुजफ्फरपुर में बारिश के बाद अब फिर से गर्मी बढ़ने लगी है. उमस भी बढ़ चुकी है. ऐसे में बच्चों के एसकेएमसीएच पहुंचने का सिलसिला फिर शुरू हो गया है. सोमवार को चार और नए केस एसकेएमसीएच में पहुंचे हैं. माना जा रहा है कि बारिश के बाद से हालात और ज्यादा बिगड़ गए हैं.

लगातार बढ़ रहा है आंकड़ा

बिहार में अब तक 168 बच्चों की मौत हो चुकी है. सबसे ज्यादा मौत मुजफ्फरपुर में हुई है. मुजफ्फरपुर के अवाला वैशाली में 19, समस्तीपुर में पांच, मेतिहारी में दो, पटना में दो. बेगूसराय में छह और भागलपुर में एक बच्चे की मौत हुई है. इसके अलावा चमकी बुखार ने बेतिया के दो और गोपालगंज के एक बच्चे की जिंदगी छीन ली.

गर्मी और उमस के बीच सोमवार को चार बच्चों को मुजफ्फरपुर के एसकेएमसीएच में भर्ती कराया गया. एसकेएमसीएच के अधीक्षक डॉ. सुनील शाही ने बताया कि पहले दो दिनों में बारिश के बाद चमकी बुखार पीड़ित बच्चों का भर्ती होना कम हुआ थी, लेकिन आज फिर एक दिन में चार बच्चे भर्ती हुए हैं. गर्मी को देखते हुए डॉक्टर इन बच्चों पर नजर बनाए हुए हैं. बेहतर चिकित्सा सुविधा देने की कोशिश कर रहे हैं.

राबड़ी ने बोला नीतीश सरकार पर हमला

इस बीच एक्स सीएम राबड़ी देवी ने ट्वीट किया है. उन्होंने एक खबर शेयर करते हुए लिखा है -‘बिहार के सरकारी अस्पतालों की दयनीय स्थिति है. स्वास्थ्य विभाग अस्वस्थ है. मंत्री मस्त हैं. भवन जर्जर हैं. उपकरण खराब हैं. दवा खरीद में घोटाला है. भ्रष्टाचार चरम पर है. स्वास्थ्य मंत्री निजी हॉस्पिटल का विज्ञापन कर रहे हैं. इन लोगों ने तो बेशर्मी को भी बेच दिया है.’

About Md. Saheb Ali 5177 Articles
Md. Saheb Ali

Be the first to comment

Leave a Reply

Your email address will not be published.


*