नरेन्द्र मोदी राजीव गांधी नहीं है कि आए और बोल कर चले गए, सुशील मोदी ने कहा- पीएम पैकेज का एक-एक पैसा हो रहा है खर्च

लाइव सिटीज, सेंट्रल डेस्क : उपमुख्यमंत्री सुशील कुमार मोदी ने पीएम द्वारा घोषित 1.25 लाख करोड़ के पैकेज पर सवाल उठाने वाली कांग्रेस से पूछा है कि वह बतायें कि 1989 में लोकसभा चुनाव के दौरान राजीव गांधी द्वारा बिहार के लिए घोषित 5,700 करोड़ के पैकेज का क्या हुआ?  प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी तो अपने वायदे व वचन के पक्के हैं क्यों कि उनके द्वारा घोषित पैकेज की राशि से सड़क, पुल, पर्यटन, रेलवे, पेट्रोलियम व ऊर्जा आदि सभी क्षेत्रों में काम हो रहा है.

क्या पीएम पैकेज की राशि से ही भागलपुर बाईपास, छपरा-गोपालगंज, बिहारशरीफ-बरबीधा-मोकामा पथ सहित सड़क प्रक्षेत्र की 12 योजनाएं पूर्ण नहीं हो चुकी है? कांग्रेस को बताना चाहिए कि 1,742 करोड़ की लागत से किया गया महात्मा गांधी सेतु का पुरूद्धार और सोन नदी पर कोइलवर के पास बन कर तैयार 3 लेन का नया पुल क्या पीएम पैकेज का हिस्सा नहीं है? .



पटना-बक्सर व बख्तियारपुर-मोकामा 4 लेन सड़क, गंगा नदी पर सिमरिया में छह लेन पुल, कोसी नदी पर फुलौत में 4 लेन पुल व वीरपुर-बिहपुर के बीच पुल, पटना में गांधी सेतु व भागलपुर में बिक्रमशिला पुल के समानान्तर नए पुल,आरा-मोहनिया, बख्तियारपुर-रजौली व पटना रिंग रोड के निर्माण सहित 14,258 करोड़ की परियोजनाओं का शुभारंभ क्या हाल ही पीएम पैकेज से नहीं किया गया है?.

पर्यटन के अन्तर्गत पीएम पैकेज के तहत ही क्या जैन, कांवरिया, मंदार व गांधी परिपथ के लिए 103 करोड़ की परियोजनाएं क्रियान्वित नहीं की जा रही है? . इसी प्रकार पेट्रोलियम मंत्रालय द्वारा बरौनी रिफाइनरी के क्षमता संवर्द्धन व घरेलु एलपीजी कनेक्शन पर किया गया 21,476 करोड़ व रेलवे की विभिन्न परियोजनाओं पर 8,870 करोड़ का खर्च, बक्सर के चैसा में 1300 मेगावाट के नया पावर प्लांट, राजेन्द्र कृषि विश्वविद्यालय को केन्द्रीय विश्वविद्यालय का दर्जा, कृषि व मत्स्य पालन हेतु 3.094 करोड़ की परियोजनाओं का शिलान्यास व उद्घाटन क्या पीएम पैकेज के तहत नहीं किया गया है?.

मोदी ने कहा कि नरेन्द्र मोदी व नीतीश कुमार राजीव गांधी नहीं है कि आए और बोल कर चले गए. पीएम पैकेज का एक-एक पैसा बिहार के विकास पर खर्च हो रहा है और आगे भी होगा. कांग्रेस बतायें कि 31 साल बाद भी राजीव गांधी द्वारा घोषित पैकेज का क्या हुआ?.