17वीं लोकसभा का पहला सत्र आज, नए सदस्यों को दिलाई जाएगी शपथ

लाइव सिटीज, सेंट्रल डेस्क : 17वीं लोकसभा (17th Lok Sabha) का पहला सत्र आज यानी सोमवार से शुरू होने वाला है. इस सत्र में नए सदस्यों को शपथ दिलायी जाएगी. साथ ही इस सत्र के एजेंडे में ही तीन तलाक बिल (Triple Talaq bill) पर भी बहस की जाएगी. संसद का बजट सत्र 26 जुलाई तक चलेगा. पहले दो दिन 17 और 18 जून को लोकसभा के नव निर्वाचित सभी सदस्यों को शपथ दिलाई जाएगी. इसके लिए प्रोटेम स्पीकर के रूप में डॉ. वीरेंद्र कुमार का चयन कर लिया गया है. 19 जून को लोकसभा अध्यक्ष का चुनाव होगा. 20 को राष्ट्रपति संसद के दोनों सदनों को संबोधित करेंगे. पांच जुलाई को सरकार अपना पूर्ण बजट पेश करेगी.

एजेंडे में तीन तलाक बिल

17वीं लोकसभा में केंद्रीय बजट के अलावा तीन तलाक बिल को पारित कराना सरकार की पहली प्राथमिकता होगी. सरकार ने इस सत्र के लिए 10 अध्यादेशों की घोषणा की थी. इस सत्र में कुल 30 बैठकें निर्धारित हैं. वित्‍त मंत्री निर्मला सीतारमण पांच जुलाई को केंद्रीय बजट पेश करेंगी. इसके लिए चार जुलाई को बजट पूर्व आर्थिक सर्वे आएगा. यह पूर्ण बजट होगा क्‍योंकि सरकार ने इससे पहले अंतरिम बजट पेश किया था.

लोकसभा में कांग्रेस का नेता तय नहीं

अब तक लोकसभा में कांग्रेस के नेता का नाम नहीं तय हो पाया है. पहले यह चर्चाएं थीं कि पार्टी अध्यक्ष राहुल गांधी लोकसभा में कांग्रेस का नेता सकते हैं, लेकिन पार्टी अध्‍यक्ष पद छोड़ने पर अड़े रहने के कारण इसकी संभावना कम है. 16वीं लोकसभा में पार्टी का नेतृत्व करने वाले वरिष्ठ नेता मल्लिकार्जुन खड़गे इस बार चुनाव हार गए हैं. ऐसे में अब पार्टी लोकसभा में नेता पद के लिए एक ऐसे सांसद की खोज में है जो गांधी परिवार का विश्वस्त होने के साथ हिंदी और अंग्रेजी में अपनी बात पुरजोर तरीके से रखने में सक्षम हो.

सर्वदलीय बैठक में विपक्ष ने दिखाए तेवर

संसद के सत्र के लिए रविवार को प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी की मौजूदगी सर्वदलीय बैठक हुई जिसमें विपक्ष के साथ कामकाज को लेकर चर्चा की गई. हालांकि, विपक्ष ने कड़े तेवर दिखाते हुए महिला आरक्षण, किसान संकट, बेरोजगारी जैसे मुद्दों पर चर्चा की मांग कर सरकार पर दबाव बनाने की कोशिश की। साथ ही जनता से जुड़े प्रत्येक बिल पर सरकार को पूरा समर्थन देने का भरोसा दिया. बैठक में विपक्ष की ओर से कांग्रेस के वरिष्ठ नेता गुलाम नबी आजाद, नेशनल कांफ्रेस के फारूक अब्दुल्ला और तृणमूल कांग्रेस के नेता डेरेक ओ-ब्रायन आदि मौजूद रहे.

Be the first to comment

Leave a Reply

Your email address will not be published.


*