लाइव सिटीज, सेंट्रल डेस्क : पूरे देश में लोकसभा चुनाव की तैयारियां चल रही है. सभी बड़ी पार्टियां अपनी चुनावी अभियान में जुट गयी है. देश के सभी प्रमुख पार्टियां अपने उम्मीदवारों की रोज घोषणा कर रही है. भाजपा पार्टी से एक बड़ी खबर मिल रही है. भाजपा के वरिष्ठ नेता व कानपुर से सांसद मुरली मनोहर जोशी का टिकट काट दिया गया है. भाजपा को खड़ा करने वाले सबसे वरिष्ठ नेता व गांधीनगर से सांसद लालकृष्ण आडवाणी भी चुनाव नहीं लड़ेंगे.

बीजेपी 2019 में एक बार फिर सत्ता में वापसी करने के लिए एड़ी-चोटी का जोर लगा रही है. इसीलिए भाजपा ने अपने किए वरिष्ठ नेताओं का पत्ता साफ कर दिया है. भाजपा के दिग्गज नेता पार्टी से खफा है. दरअसल भाजपा पार्टी के वरिष्ठ मुरली मनोहर जोशी टिकट नहीं दे रही है.

जोशी ने कानपुर के लोगों को पत्र लिख इस बात की जानकारी दी. उन्होंनें लिखा की प्रिय कानपुर के लोगों, बीजेपी के महासचिव रामलाल ने आज मुझे सूचना दी कि मैं इसबार ना तो कानपुर और ना ही किसी अन्य क्षेत्र से चुनाव लडूंगा. पार्टी ने मुझे टिकट ही नहीं दिया है.

बता दें कि जोशी पूर्व प्रधानमंत्री अटल बिहारी वाजपेयी और एलके आडवाणी की ही तरह भाजपा के संस्थापक सदस्यों में से एक हैं. गौरतलब है कि भाजपा ने अडवाणी को भी टिकट नहीं दिया है, उनकी जगह इस बार गांधीनगर लोकसभा सीट से पार्टी अध्यक्ष अमित शाह को टिकट दिया गया है. सन् 1991 स लगातार आडवाणी गांधीनगर सीट से चुनाव लड़ते आए है. मुरली मनोहर जोशी ने भी 2014 लोकसभा चुनाव के दौरान प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी के लिए अपनी वाराणसी सीट को छोड़ दिया था.

केजरीवाल ने भाजपा पर साधा निशाना

दिल्ली के मुख्यमंत्री अरविंद केजरीवाल ने ट्विट के जरिए भाजपा पर निशाना साधते हुए कहा कि जिन्होंने घर बनाया था उन्हीं बुजुर्गों को घर से निकाल दिया. जो अपने बुजुर्गो का नहीं हो सका वो किसका होगा. क्या यही भारतीय सभ्यता है? हिन्दू संस्क्रति तो ये नही कहती कि बुजर्गों को बेज्जत करो.