कन्हैया कुमार ने बेगूसराय में किया नामांकन, रोड शो में उमड़ा जनसैलाब

लाइव सिटीज, सेंट्रल डेस्क : बिहार की बेगूसराय लोक सभा सीट पर लड़ाई जबरदस्त है. इस बीच आज 9 अप्रैल को सीपीआई के कैंडिडेट कन्हैया कुमार नामांकन पर्चा दाखिल किया. कन्हैया कुमार बेगूसराय में डीएम ऑफिस पहुंचकर नामांकन दाखिल किया. नामांकन से पहले कन्हैया कुमार ने अपनी मां से आशीर्वाद लिया है. इसके साथ ही साथ कन्हैया कुमार ने अपने विचारों को लोगों से साझा किया है.

कन्हैया के नामांकन कार्यक्रम में फिल्म अभिनेत्री स्वरा भास्कर, अम्मा फातिमा नफीस, जिग्नेश मेवाणी, शेहला, गुरमेहर समेत तमाम लोग मौजूद थे. कन्हैया कुमार उन सभी तमाम साथियों का धन्यवाद किया. उन्होंने कहा कि जो संविधान और लोकतंत्र को बचाने के संघर्ष को मज़बूत करने के लिए बेगूसराय आए हैं. जहां देखो वहां हमारे साथी लाल झंडों के साथ नज़र आ रहे हैं. एकजुटता का ऐसा भव्य नज़ारा सबमें जोश भर रहा है. कन्हैया कुमार का मुकाबला बीजेपी के उम्मीदवार गिरिराज सिंह और महागठबंधन के आरजेडी उम्मीदवार तनवीर हसन से है. इस सीट पर चौथे चरण में 29 अप्रैल को मतदान होगा.

दरअसल आज पूर्व निर्धारित कार्यक्रम के अनुसार कन्हैया का रोड शो था और सुबह 8:00 बजे से ही अपने समर्थकों के साथ कपस्या चौक से निकलकर विभिन्न मार्गों से होते हुए जब लोहिया नगर पहुंचे थे. कन्हैया के रोड शो में कार्यकर्ताओं की भारी भीड़ देखने को मिल रही है. उनके कार्यकर्ताओं में काफी उत्साह का माहौल देखा जा रहा है. कन्हैया कुमार के कार्यकर्ताओं ने बैंड, बाजा और घोड़े आदि लेकर सभा स्थल पर पहुंचे थे. लाल झंडे और लाल सलाम के नारों संग सड़कों पर लोगों का हुजूम दिखा.

जीरो माइल में राष्ट्रकवि रामधारी सिंह दिनकर की प्रतिमा पर माल्यार्पण कर कन्हैया रोड शो की शुरुआत की. नामांकन कार्यक्रम में स्वरा भास्कर के अलावा जेएनयू के छात्र नजीब की मां फातिमा नफीस, साहित्यकार तिस्ता शीतलवार, डॉ. राय बिन्दु, गुजरात बडगांव के विधायक जिग्नेश मेवानी, गुरमेहर कौर, शेहला रशीद के अलावा कई नामचीन लोगों ने शिरकत की.

इससे पहले सोमवार को कन्हैया ने कहा कि धन्नासेठों को अरबों रुपए का कर्ज लेकर विदेश भागने की छूट देने वाले लोग आज लोकतंत्र व संविधान को बचाने का संघर्ष कर रहे लोगों के खिलाफ साजिशें रच रहे हैं. बेगूसराय में एक भी विश्वविद्यालय नहीं होना। कई कारखानों के बंद होने जैसी कई समस्याएं हैं.

कन्हैया कुमार ने नामांकन दाखिल करने से पहले क्या कहा

कन्हैया ने कहा कि आज जब मोदी सरकार के तमाम जुमलों की असलियत जनता के सामने आ गई है तो भाजपा में बैखलाहट सामने दिखने लगी है. बौखलाहट और दमन का नतीजा है कि सैकड़ों लेखक, रंगकर्मियों, बुद्धीजीवियाकें ने देश को मौजूदा सरकार की नफरत की राजनीति से बचाने की अपील की है.