OMG : बर्थ डे पर नीतीश – लालू को याद रहे आडवाणी, सुशील मोदी तो भूल ही गये

पटना : लालकृष्‍ण आडवाणी तो अब सचमुच भाजपा में भूले-बिसरे गीत वाले कैटेगरी में चले गये दिखते हैं . आज 8 नवंबर को आडवाणी का जन्‍म-दिन है . 2014 के पहले तक आडवाणी के घर पर नई दिल्‍ली में शुभकामना देने वाले बड़े नेताओं का तांता लगा रहता था,पर अब ऐसा नहीं है . सब कुछ ट्विटर-फेसबुक पर निपट जा रहा है . प्रधान मंत्री नरेन्‍द्र मोदी और भाजपा के नेशनल प्रेसीडेंट अमित शाह ने सुबह ही ट्वीट कर दिया था .

अब बिहार से लालकृष्‍ण आडवाणी को मिल रही शुभकामनाओं को देख लीजिए . खबर लिखें जाने तक डिप्‍टी सीएम सुशील कुमार मोदी को ही लालकृष्‍ण आडवाणी का बर्थ डे शायद याद नहीं आया है . उनके ट्विटर और फेसबुक एकांउट से हैप्‍पी बर्थ डे वाला कोई संदेशा अब तक जारी नहीं हुआ है . लास्‍ट ट्वीट कोई एक घंटा पहले सीआईआई प्रतिनिधियों के साथ बैठक का है .

सुशील मोदी का लास्ट ट्वीट

जबकि सच यह है कि 2012-2013 में नरेन्‍द्र मोदी के राष्‍ट्रीय अवतरण के पहले सुशील कुमार मोदी को लालकृष्‍ण आडवाणी का ही विशेष कृपापात्र नेता माना जाता था . पर बाद में सुशील मोदी की धारा भी समय से बदल गई थी . हां,यह दूसरी बात है कि बिहार भाजपा के स्‍टेट प्रेसीडेंट सांसद नित्‍यानंद राय ने आडवाणी को शुभकामनाएं देने के लिए सुबह ट्वीट कर दिया था .

मोदी को आडवाणी भले दोपहर को अब तक याद न आए हों,लेकिन मुख्‍य मंत्री नीतीश कुमार को जरुर याद आये . आडवाणी को जन्‍म-दिन की शुभकामना देने को नीतीश कुमार की ओर से बाजाप्‍ता सूचना एवं जनसंपर्क विभाग की प्रेस रिलीज जारी हुई है . साथ में,इसे ट्विटर पर भी अपलोड किया गया है . राजनैतिक लोगों को यह पता है कि 1990 के दशक में जब नीतीश कुमार पहली बार एनडीए गठबंधन में शामिल हुए थे,तब भाजपा का नेतृत्‍व अटल बिहारी वाजपेयी और लालकृष्‍ण आडवाणी के पास ही था .

नीतीश कुमार ने दी शुभकामनाएं. प्रेस रिलीज जारी

और तो और लालकृष्‍ण आडवाणी को राजद सुप्रीमो लालू प्रसाद ने भी ट्वीट कर जन्‍म-दिन की शुभकामनाएं दी हैं . स्‍वस्‍थ व दीर्घायु जीवन की कामना करते हुए इशारे-इशारे में लालू प्रसाद ने प्रधान मंत्री नरेन्‍द्र मोदी पर भी तंज कसा है . कहा है,जब कोई अनुशासित शिष्‍य बागी भी बन जाए,तो बुरा मत मानिए .

लालू प्रसाद का शुभकामना ट्वीट

Be the first to comment

Leave a Reply

Your email address will not be published.


*