आलमनगर में बोले नीतीश कुमार- हमने किया है न्याय के साथ विकास, जिनको मौका मिला, सिर्फ अपना विकास किया

लाइव सिटीज, सेंट्रल डेस्क: बिहार में विधानसभा चुनाव के तहत नीतीश कुमार की जनसभाओं का दौर लगातार जारी है. आज मधेपुरा और सुपौल में नीतीश कुमार की सभाएं हैं. पहली सभा मधेपुरा के आलमनगर में हुई. जहां नीतीश कुमार ने अपराध के राज का याद दिलाया.

उन्होंने कहा कि जिनको मौका मिला उन्होंने कभी इसकी चिंता नहीं की. वर्ल्ड बैंक से कर्ज लेकर काम किया है. पहले किसी के मन में बाढ़ या किसी आपदा को लेकर मन में कभी विचार आया ही नहीं. लेकिन हमने एक एक चीज को देखा. कोसी और बेहतर बनाएंगे. इतना काम करवाया गया. आपदा को बेहतर किया गया. आपदा के मामले में बिहार को पुरस्कार दिया गया. जब भी आपने मौका दिया, हमलोगों ने सेवा किया.



इस राज्य का कोई ऐसा इलाका नहीं है जिसकी उपेक्षा की हो, जहां काम ना किया हो. समाज के हर तबके लिए काम किया. महिलाओं के विकास के लिए काम. महिलाओं को आरक्षण जिससे जन प्रतिनिधि के लिए पंचायती राज में और नगर निकायों में किया. तीन बार चुनाव हुआ और बड़ी संख्या में महिलाएं जनप्रतिनिधि कर रही हैं.

नीतीश कुमार ने आगे कहा कि कुछ लोगों ने हमसे कहा कि महिलाओं को इतना आरक्षण दे रहे हैं. हमने कहा कि महिलाएं जितना करेंगी उतना कोई नहीं करेगा. पुरुष और स्त्री सब करेंगे तभी समाज आगे बढ़ेगा. लड़कियां कम पढ़ पाती थी. पोशाक योजना और साइकिल योजना के तहत उनमें आत्मविश्वास का भाव पैदा हुआ. उसके बाद लड़कों के लिए भी साइकिल योजना की शुरुआत करा दी.

इस बार जो मैट्रिक की परीक्षा हुई उसमें लड़कियों की संख्या लड़कों से भी ज्यादा थी. बहुत लोग प्राथमिक विद्यालय नहीं जा पाते थे. उसके लिए हमने स्वंम सेवक का काम शुरू किया. अब कितनी बड़ी संख्या में लोग जाने लगे हैं. महिलाओं को और आगे बढ़ाने के लिए और ज्यादा काम किया जा रहा है.

पहले लालटेन का जमाना था, बिजली की स्थिति बत्तर थी. हमने हर घर बिजली पहुंचा दी. हर घर नल का जल, हर घर तक पक्की गली और नाली का निर्माण. महिलाओं को सरकारी सेवाओं में 35 प्रतिशत का आरक्षण.

अगली बार मौका दिया तो हर इलाके में सोलर लाइट लगवा देंगे. घर का बिजली बुझा देंगे तो पूरा इलाका रौशन हो जाएगा. साफ़ सफाई, नाले का निर्माण करवाएंगे. हर खेत तक सिंचाई का पानी उपलब्ध करवा देंगे. शिक्षा और स्वास्थ्य के लिए काम किया है. अगली बार मौका दीजियेगा तो कई गांवों तक जाने के लिए सड़क का निर्माण होगा.