कटिहार में विरोधियों पर बरसे सीएम नीतीश, कहा- कुछ लोग जुबान चलाते हैं, काम नहीं करते हैं

लाइव सिटीज, सेंट्रल डेस्क: बिहार विधानसभा चुनाव के तीसरे चरण के चुनावी प्रचार का आज आखिरी दिन है. इस बीच बिहार में आज मुख्यमंत्री नीतीश कुमार की पांच जनसभाएं हैं. पहली सभा कटिहार में हुई. जहां उन्होंने 2005 के समय की स्थिति की चर्चा की. और कहा कि शाम को घर से बाहर नहीं निकल पाते थे. कानून की स्थिति खराब थी, जंगलराज थी, विकास की स्थिति दयनीय थी. लेकिन जब हमें काम करने का मौका मिला तब अपराध पर नियंत्रण हुआ है.

जनसभा में बोलते हुए सीएम नीतीश ने कहा कि हम बिहार में ही रोजगार देंगे. हमने नई औद्योगिक पॉलिसी बना ली है. नई पॉलिसी से बिहार के लोगों को रोजगार तो मिलेगा ही, बड़ी संख्या में बाहर से भी लोग आयेंगे तो वे भी यहां आकर रोजगार करेंगे. कोरोना संकट में जब बाहर से लोग आये उनके रोजगार के लिए हमने नई पॉलिसी लाई है. केंद्र सरकार ने भी काफी मदद की है.



नीतीश कुमार ने कहा कि 2005 में हम यात्रा पर निकले थे तो कहा था कि न्याय के साथ विकास करेंगे. जब बिहार की जनता ने काम का मौका दिया तो हमने यही काम किया, सबके लिए सोचा और काम किया. पहले महिलाओं की कोई प्रतिष्ठा नहीं थी, हमने पंचायतों में आरक्षण देकर महिलाओं को आगे बढ़ाया. जीविका और जनप्रतिनिधियों के जरिये आज महिलाओं की स्थिति कितनी बेहतर है. उनलोगों को जब काम करने का मौका मिला था तो कहां कुछ किया था महिलाओं और समाज के पिछड़े वर्गों के लिए. अगर समाज का विकास करना है तो महिलाओं को अवसर देना तभी आगे बढ़ सकता है. बिहार पहला राज्य है जहां महिलाओं को पंचायतों में आरक्षण देकर आगे बढ़ाया.

जिनको पहले काम करने का मौका मिला था तब किसी को कोई आरक्षण नहीं, महिलाओं को कोई इज्जत नहीं, पिछड़े, अति पिछड़ों को कोई पूछता भी नहीं था. लोग पहले महिलाओं के महत्व नहीं समझते थे. अगर समाज का विकास करना है तो पुरुष के साथ साथ महिलाओं का भी विकास जरुरी है.

वहीं, नीतीश कुमार ने विरोधियों पर हमला बोलते हुए कहा कि कुछ लोग जुबान चलाते हैं काम नहीं करते. हम काम करते हैं उसका प्रचार नहीं करते. हमने जीविका के माध्यम से महिलाओं को आत्मनिर्भर बनाया है. 10 लाख जीविका समूह के माध्यम से 1 करोड़ महिलायें जुड़ी हुई हैं. आप लोगों ने हमको मौका दिया तो सबको आगे बढ़ाया. हर समाज और हर इलाके के लिए काम किया.