सदन में अचानक नीतीश कुमार गुस्से से आग बबूला हो गए, तेजस्वी पर केस करने की कह दी बात

लाइव सिटीज,सेंट्रल डेस्क :  17वीं विधानसभा के पहले सत्र के अंतिम दिन सदन में जबरदस्त हंगामा हुआ. नेता प्रतिपक्ष के आरोप पर अचानक मुख्यमंत्री नीतीश कुमार गुस्से में आ गए. वो तेजस्वी यादव पर इतने गुस्सा गए कि उन्होंने केस करने तक की बात कह डाली.

मुख्यमंत्री नीतीश कुमार ने कहा कि ‘यह मेरे भाई समान दोस्त का बेटा है,इसलिए हम सब सुनते रहते हैं. इसके पिता को विधायक दल का नेता कौन बनवाया था?. इसे किसने डिप्टी सीएम बनवाया था?. जब इस पर आरोप लगा तो हमने कहां इसको आप एक्सप्लेन कीजिए. लेकिन इन लोगों ने नहीं किया. अंत में हमने ही साथ छोड़ दिया”.



मुख्यमंत्री नीतीश कुमार ने सदन के अंदर विपक्ष के रवैये पर अध्यक्ष से कहा कि क्या ऐसे ही सदन चलेगा?.  हम बर्दाश्त करते रहते हैं. इन लोगों पर जो आरोप लगे थे उसको क्यों नहीं एक्सप्लेन किया गया. आज चार्जशीटेड हो. पूरे मामले की जांच होनी चाहिए.

आज सदन में तेजस्वी यादव राज्यपाल के अभिभाषण पर बोल रहे थे. तेजस्वी ने सीएम नीतीश के उस बयान पर जमकर पलटवार किया जिसमें मुख्यमंत्री ने लालू यादव के बेटा बेटी की संख्या को लेकर कटाक्ष किया था. तेजस्वी ने कहा कि यह बात सहीं है की मेरे इतने भाई बहन है. लेकिन क्या मुख्यमंत्री ने एक बेटे के बाद कहीं बेटी ना हो जाए इसकी डर से कोई और संतान पैदा नहीं किया.

हमने पूरे चुनावी भाषण के दौरान किसी पर व्यक्तिगत कटाक्ष नहीं किया. लेकिन इन लोगों ने हर बार व्यक्तिगत हमला करने का काम किया. उन्होंने चेहरे पर चुनाव को लेकर कहा कि 2015 के चुनाव में तो नीतीश कुमार कहते थे कि उनकी वजह से आरजेडी को इतनी सीटें मिली है. ठीक है… लेकिन 2020 में तो हम अपने चेहरे पर चुनाव लड़े, इस बार पिछली बार से दोगुने वोटों से जीत कर आए हैं.