तेजस्वी का भाषण सुनकर खुद को हंसने से रोक नहीं पाए नीतीश, चाचा- भतीजा को लेकर ये सब कहा

लाइव सिटीज, सेंट्रल डेस्क: बिहार विधानसभा चुनाव में एनडीए की जीत के बाद विधानसभा सत्र में भी अध्यक्ष पद पर बीजेपी की ही जीत हुई है. जिसके बाद आज सत्र का अंतिम दिन है. इस दौरान विपक्ष ने शुरुआत हंगामे से की. बाहर में हंगामा करने के बाद सदन के अंदर भी नेता प्रतिपक्ष आक्रामक नज़र आए. तेजस्वी 56 मिनट बोले और अपने संबोधन में नीतीश कुमार पर खूब हमले भी किये.

आपको याद होगा कि शुरुआत से ही तेजस्वी यादव सरकार के भ्रष्टाचारों को गिनाते नजर आए हैं. कोरेाना काल से लेकर चुनाव प्रचार के दौरान किए गए कटाक्षों को बारी-बारी से गिनाना शुरू किया. पूरे संबोधन के दौरान नेता प्रतिपक्ष तेजस्वी यादव आक्रमक रूख अपनाए रहे.



उन्होंने कहा कि हम तो नीतीश जी को चाचा बोलते हैं, हमें तो माता-पिता ने सिखाया है कि बड़ों का सम्मान करो. हम तो आदरणीय नीतीश जी को चाचा से संबोधन करते थे, लेकिन सदन में कोई चाचा- भतीजा तो होता नहीं है. प्रोटोकॉल का फॉलो करते हैं.

बस फिर क्या था, तेजस्वी के इतना कहते ही पूरा सदन ठहाकों से भर गया. खासतौर पर शांत होकर संबोधन सुन रहे मुख्यमंत्री नीतीश कुमार भी खुद को रोक नहीं पाए और ठहाके लगाकर हंसने लगे. नीतीश की हंसी से ये स्पष्ट हो गया कि तेजस्वी जो कह रहे हैं ये सिर्फ कहने की बातें हैं और उनके आचरण में ऐसा कुछ भी नहीं है.