झंझारपुर लोकसभा: नितीश मिश्रा उतरे मैदान में, रामप्रीत मंडल के लिए मांगा वोट

लाइव सिटीज, सेंट्रल डेस्क : लोकसभा चुनाव को लेकर बिहार की राजनीति गरम है. इस बीच बिहार के झंझारपुर से एक खबर है. झंझारपुर लोकसभा सीट से एनडीए से जदयू के उम्मीदवार रामप्रीत मंडल चुनावी मैदान में हैं. उनके सामने महागठबंधन से आरजेडी के प्रत्य़ाशी गुलाब यादव हैं. जदयू उम्मीदवार रामप्रीत मंडल के लिए भाजपा के पूर्व मंत्री व प्रदेश उपाध्यक्ष नितीश मिश्रा उनके लिए चुनावी प्रचार में उतर गए है. नितीश मिश्रा अपने प्रत्याशी के लिए चुनाव प्रचार करेंगे. झंझारपुर में तीसरे चरण में 23 अप्रैल को चुनाव होने है.

बिहार सरकार के पूर्व ग्रामीण विकास मंत्री भाजपा प्रदेश उपाध्यक्ष नितीश मिश्रा NDA के कार्यकर्त्ता से जनसम्पर्क कर लोगों जागरूक कर रहे हैं. नितीश मिश्रा एनडीए को वोट करने के लिए संबोधित किए. उन्होंने कार्यकर्ताओं को संबोधिक करते हुए कहा कि आप लोग भारी मतोें से एनडीए के उम्मीदवार रामप्रीत मंडल को वोट देकर भारी मतों से जिताएं. नितीश मिश्रा के साथ बहुत सारे एनडीए के कार्यकर्ता मौजूद थे.

झंझारपुर लोकसभा क्षेत्र से जदयू के प्रत्याशी रामप्रीत मंडल ने कहा है कि उनको टिकट देकर मुख्यमंत्री नीतीश कुमार ने अतिपिछड़ों का मान-सम्मान बढ़ाया है. उनको टिकट मिलने से पूरे झंझारपुर लोकसभा में खुशी की लहर है.

उन्होंने बताया कि वे मणिपुर में 1997 में समता पार्टी के संस्थापक सदस्य रहे हैं. वर्ष 2000 वे मणिपुर हिन्दुस्तानी समाज का अध्यक्ष के रूप में वे स्व.जार्ज फर्नांडीस के संपर्क में आए. यहां वे राधा विनोद सिंह के नेतृत्व में समता पार्टी के सरकार का गठन कराने में सक्रिय भूमिका निभाए थे.

64 वर्षीय मंडल मैट्रिक पास हैं. खुटौना के दुर्गीपट्टी निवासी मंडल 2006 से 2011 तक ग्राम पंचायत के मुखिया भी रहे हैं. इस दौरान वे 2006 से 2011 तक मुखिया संघ के प्रखंड महासचिव भी रहे हैं. जदयू में जिला अतिपिछड़ा वर्ग संगठन के उपाध्यक्ष के साथ ही खुटौना बीस सूत्री के पूर्व सदस्य रह चुके हैं. धानुक उत्थान महासंघ के उपाध्यक्ष के साथ वे वर्तमान में खुटौना के प्रखंड प्रमुख भी हैं. मंडल शुरू से ही सामाजिक व राजनीतिक कार्यों में सक्रिय रहे हैं. हर चुनाव वे जमीनी स्तर पर पार्टी के लिए सक्रिय कार्य करते रहे हैं. उन्होंने कहा कि उनको टिकट देकर उनके समाज को मुख्यमंत्री नीतीश कुमार ने मान बढ़ाया है. महागठबंधन में उनके समाज से एक भी प्रत्याशी को चुनाव मैदान में नहीं उतारा गया है.

Be the first to comment

Leave a Reply

Your email address will not be published.


*