एक बार फिर आमने सामने हो सकते हैं नीतीश-तेजस्वी, केन्द्रीय मंत्री रविशंकर प्रसाद की मां का श्राद्ध आज, कई बड़े नेता होंगे शामिल

लाइव सिटीज, सेंट्रल डेस्क : पटना में एकबार फिर चाचा भतीजा आमने सामने हो सकते हैं. दोनों के बीच पिछले दिनों विधानमंडल सत्र के दौरान तीखी बहस भी हुई थी. जिसे टीवी पर बिहार समेत पूरी दुनिया ने देखा था. उस दौरान तेजस्वी ने सीएम पर ऐसा वार किया बीच सदन में सीएम ने अपना आपा खो दिया. सीएम इतने गुस्से में हो गए थे कि तेजस्वी पर केस दर्ज कराने तक की बात कह डाला थी. खैर ये सब तो सदन के अंदर की बातें है. लेकिन सदन के बाद फिर से एकबार दोनों आमने सामने होने वाले हैं !

बताया जा रहा है कि केन्द्रीय मंत्री रविशंकर प्रसाद की मां की श्राद्धकर्म में चाचा भतीजा के आमने सामने होने का संभावना है. सीएम नीतीश कुमार का शामिल होना तो सुनिश्चित है. क्योंकि मां की मृत्यु के वक्त उनका रविशंकर प्रसाद के यहां ना जाना राजनीतिक गलियारे में चर्चा का विषय बन गया था. इसलिए श्राद्धकर्म में उनका जाना सुनिश्चित है. इसके अलावे प्रदेश के सभी राजनीतिक दलों के बड़े नेताओं का भी जाना तय माना जा रहा है.



ऐसे में यह कयास लगाया जा रहा है कि आरजेडी की ओर से तेजस्वी यादव केन्द्रीय मंत्री रविशंकर प्रसाद की मांग के श्राद्धकर्म में शामिल हो सकते हैं. अगर वो शामिल होते हैं तो यह दूसरा मौका होगा जब किसी कार्यक्रम में चाचा भतीजा आमने सामने होंगे. इसके पहले स्वर्गीय रामविलास पासवान के श्राद्धकर्म में दोनों नेता आमने सामने हुए थे.

उधर आज शाम सीएम आवास पर सीएम नीतीश से भूपेन्द्र यादव, डॉक्टर संजय जायसवाल और दोनों डिप्टी सीएम मिलने जाने वाले हैं. इसके पहले आज ही  भूपेन्द्र यादव ने जेडीयू कार्यालय जाकर अध्यक्ष आरसीपी सिंह से मुलाकात की है. दोनों नेताओं के बीच बंद कमरे मे करीब घंटों बातचीत हुई है.

मुलाकात बाद मीडिया से बात करते हुए बीजेपी नेता भूपेन्द्र यादव ने कहा कि आरसीपी सिंह को अध्यक्ष बनने की अपनी पार्टी की ओर से बधाई देने आया था. जिस प्रकार से ये लोहिया के सिद्धांत को लेकर पार्टी को आगे बढ़ाने का काम कर रहे हैं वो काबिलेतारीफ है. इनका एक लंबा प्रशासनिक और संगठन का अनुभव रहा है, लोहिया के विचारों को लेकर ये काम करते हैं, उसकी शुभकामना व्यक्त करने के लिए आया था.