महागठबंधन में सहयोगियों की इज्जत नहीं, कुशवाहा के मैटर पर बोले मांझी

लाइव सिटीज, सेंट्रल डेस्क : बिहार में अभी चुनावी रणभेरी बजी नहीं है, लेकिन राजनीतिक पार्टियां चुनाव की तैयारी में जुटी हुई है. बिहार में चुनाव लड़ने को लेकर दो अलायंस एनडीए और महागठबंधन महत्वपूर्ण हैं. लेकिन दोनों ही तरफ फिलहाल चुनाव में एक साथ लड़ने और सीट शेयरिंग को लेकर बवाल मचा हुआ है. जीतन राम मांझी के महागठबंधन छोड़ने के कुछ दिन ही हुए कि अब उपेंद्र कुशवाहा के महागठबंधन छोड़ने की बात समाने आ रही है.

महागठबंधन सबकुछ ठीक नहीं होने के संकेत के बीच खबर आ रही है कि रालोसपा प्रमुख उपेंद्र कुशवाहा ने भी अलायंस से अलग होने का फैसला कर लिया है. इसको लेकर गुरुवार को पटना में पार्टी की आपात बैठक भी बुलाई गई है. अब इस बात पर पूर्व सीएम जीतन राम मांझी ने तंज कसते हुए कहा कि जो हमारे साथ हुआ वो आज उपेन्द्र कुशवाहा के साथ हो रहा है. आरजेडी सहयोगियों का कोई इज्जत नहीं करता है.



मांझी ने कहा कि आरजेडी अपने हिडेन एजेंडे पर काम कर रही है. उसे सहयोगियों की थोड़ी भी भी परवाह नहीं है. हमारे साथ जैसा व्यवहार हो रहा था आज उपेन्द्र कुशवाहा के साथ हो रहा है. कुशवाहा जी आगे क्या निर्णय लेंगे यह उन पर है. वहीं, उपेन्द्र कुशवाहा के एनडीए में शामिल होने की बात पर मांझी ने कहा कि इस पर मुख्यमंत्री नीतीश कुमार और सुशील मोदी फैसला लेंगे.

जीतन राम मांझी ने यह भी बताया कि उन्होंने लोजपा अध्यक्ष चिराग पासवान से बात की है और केंद्रीय मंत्री रामविलास पासवान के स्वास्थ्य की जानकारी ली है. उन्होंने चिराग की नाराजगी पर कहा कि राजनीति अपनी जगह है, लेकिन सहयोगियों का ख्याल रखना जरूरी है. हमें उम्मीद है कि चिराग एनडीए के साथ मिलकर ही चुनाव लड़ेंगे .