थम गया पहले चरण के चुनाव प्रचार का शोर, 28 तारीख को होगी वोटिंग

लाइव सिटीज, सेंट्रल डेस्क : बिहार में पहले चरण के चुनाव के लिए प्रचार का शोर थम गया. 16 जिलों के 71 सीटों के लिए 28 अक्टूबर को वोटिंग होगी. पहले चरण में 1066 प्रत्याशी चुनाव मैदान में हैं.  जिसमें 8 मंत्रियों और कई दिग्गज शामिल हैं. इनके भाग्य का फैसला 28 तारीख को ईवीएम में कैद हो जाएगा.

28 तारीख को जिन मंत्रियों के भाग्य के फैसला होना है उनमें शिक्षा मंत्री कृष्णनंदन प्रसाद वर्मा, कृषि मंत्री प्रेम कुमार, ग्रामीण कार्य मंत्री शैलेश कुमार, विज्ञान एवं प्रावैधिकी मंत्री जय कुमार सिंह,  राजस्व मंत्री रामनारायण मंडल, श्रम संसाधन मंत्री विजय कुमार सिन्हा, खनन मंत्री बृजकिशोर बिंद और परिवहन मंत्री संतोष कुमार निराला का नाम शामिल हैं.



पहले चरण में ही जिन दिग्गजों के लिए जनता वोट करेगी, उनमें पूर्व मुख्यमंत्री जीतन राम मांझी, पूर्व विधानसभा अध्यक्ष उदय नारायण चौधरी, पूर्व मंत्री विजय प्रकाश, श्रेयसी सिंह, अनंत सिंह, राजेंद्र सिंह, रामेश्वर चौरसिया और भगवान सिंह कुशवाहा का नाम शामिल है.

पहले चरण के 71 सीटों में से आरजेडी के 42 और जेडीयू के 35 उम्मीदवार मैदान में हैं. इसके साथ ही बीजेपी के 29 प्रत्याशी, कांग्रेस के 21, माले के 8, हम के 6 और वीआईपी के एक प्रत्याशी ताल ठोके हुए हैं.

इसी प्रकार रालोसपा के 43, लोजपा के 42 और बसपा के 27 उम्मीदवार चुनाव मैदान में हैं. सबसे खास बात यह है कि पहले चरण के चुनाव में लोजपा के 42 उम्मीदवारों में 35 जदयू के खिलाफ है. जबकि 6 हम तथा एक वीआईपी के खिलाफ लोजपा के प्रत्याशी चुनाव मैदान में हैं.

2015 के चुनाव में इन 71 सीटों में से आरजेडी के कब्जे में 25 सीटें, जेडीयू के खाते में 23, बीजेपी का 13 सीट पर कब्जा है. कांग्रेस का 8 सीट, हम का एक सीट और माले का एक सीट पर 2015 में कब्जा है