अब नवादा में दक्षिण बिहार ग्रामीण बैंक से 92 लाख का घोटाला उजागर, मची हड़कंप, थाने में मामला दर्ज

लाइव सिटीज, सेंट्रल डेस्क: बिहार के एक और जिले में दक्षिण बिहार ग्रामीण बैंक से घोटाला का मामला सामने आया है. नवादा जिले के वारसलीगंज स्थित दक्षिण बिहार ग्रामीण बैंक की शाखा से 92 लाख घोटाला उजागर हुआ है. जैसे ही बैंक के आलाधिकारियों को इस बात की भनक लगी तुरंत शाखा पहुंचे और पूरे मामले की जांच की. इसके बाद थाने में बैंक की पूर्व प्रबंधक मधुलिका रानी, शाखा प्रबंधक योगेश कुमार एवं कैशियर विशाल कुमार FIR दर्ज करा दिया गया.

बैंक शाखा के वर्तमान प्रबंधक विनोद कुमार द्वारा दर्ज कराई गई एफआईआर में 92 लाख 18 हजार रुपये की वित्तीय अनियमितता का जिक्र किया गया है. वर्तमान प्रबंधक ने माने तो 2019 में उपरोक्त तीनों आरोपी बैंककर्मी दक्षिण बिहार ग्रामीण बैंक वारसलीगंज शाखा में कार्यरत थे. तीनों की मिलीभगत से विभिन्न जमाकर्ताओं के फिक्स डिपोजिट खातों को बंद कर दूसरे खाते में राशि का अंतरण पर रुपए का गबन कर लिया गया.

बताया जाता है कि वारसलीगंज शाखा में पदस्थापना के दौरान इन सभी कर्मियों द्वारा फिक्स्ड डिपॉजिट खातों की राशि को मॉडिफिकेशन के नाम पर निकाल लिया जाता था. बीच में ग्राहक अगर पहुंच गए तो उन्हें रुपया भुगतान कर दिया जाता था. ऐसे में बात सामने नहीं आ पाती थी. इस बीच सभी पदाधिकारियों का तबादला हो गया.

इसके बाद एक-एक कर कई ग्राहक सामने आये, जिनका खाता क्लोज बताया गया. तब सूचना बैंक प्रबंधक द्वारा क्षेत्रीय प्रबंधक नवादा को दी गई इसके बाद मामले की जांच शुरू हुई है. फिलहाल मामला सामने आने के बाद हड़कंप मचा हुआ है और इसकी जांच की जा रही है.