अब रात 9 बजे के बाद ATM में नहीं डाले जाएंगे पैसे!, जानिए नए नियम

लाइव सिटीज डेस्क : लुटेरों और डकैतों के बढ़ते आतंक से बैंकिंग इंडस्ट्री बेहद चिंतित है. आये दिन हो रहे कैश वैन और एटीएम लूट से बचने के लिए बैंकों ने नए नियम बनाये हैं. जिसके अनुसार अब रात नौ बजे के बाद कैश वाहनों को नकदी ले जाने की इजाजत नहीं होगी. जबकि ग्रामीण इलाकों में यह समय-सीमा शाम छह बजे तक होगी. सभी वाहनों में लाइव जीपीएस लगाने को कहा जाएगा. बता दें कि बिहार में पिछले कुछ महीनों में बैंक, एटीएम, कैश वैन लूट की घटनाएं अधिक बढ़ गई हैं.

केंद्र सरकार ने कानून मंत्रालय के पास नियमों का मसौदा भेजा है. मंजूरी के बाद इसे राज्य सरकारों को भेजा जाएगा. नए नियमों में कैश वाहनों का संचालन करने वाली कंपनियों को भी नियमित किया जाएगा. वाहनों की संख्या, उनके सुरक्षा उपाय और जवाबदेही तय की जाएगी. गृह मंत्रालय के सूत्रों ने कहा कि कई बार सुरक्षा मानकों की अनदेखी कैश वाहनों के संचालकों की ओर से की जाती है. इस संबंध में कोई नियम नहीं होने की वजह से भी चूक होती है. इसलिए सरकार ने मानक नियम बनाने का फैसला किया है.



कैश वैन

सरकार नए नियमों के मुताबिक तय करेगी कि वाहनों में सुरक्षा के क्या उपाय किए जाएं. उन्हें किस समयावधि में संचालित किया जाए. किस तरह के हथियार कैस वाहन पर मौजूद सुरक्षाकर्मियों को दिए जाएं. नक्सल और आतंक से प्रभावित क्षेत्रों के लिए समय के मानक कड़े किए जाएंगे. मसलन, नक्सल प्रभावित इलाकों में सुबह नौ बजे से शाम चार बजे तक ही वाहनों को नकदी ले जाने की अनुमति होगी. इसी तरह शहरी और ग्रामीण इलाकों के लिए अलग-अलग नियम तय किए जा रहे हैं.  इस तारीख को देश भर के बैंक रहेंगे हड़ताल पर, एटीएम सेवा भी नहीं

देशभर में करीब आठ हजार कैश वाहन संचालित हो रहे हैं. इनमें हर रोज 15 हजार करोड़ रुपये का प्रवाह हर रोज होता है. नोटबंदी के बाद कश्मीर और नक्सल प्रभावित इलाकों में कैस वाहनों के लूट की कई घटनाएं हुई हैं.