बिहार के हज यात्री अब गया से नहीं भर सकेंगे उड़ान, सब्सिडी को भी लगेगा झटका

प्रतीकात्मक तस्वीर

लाइव सिटीज डेस्क : बिहार से हज पर जानें वाले लोगों के लिए निराश करने वाली खबर हो सकती है. दरअसल, साल 2018 से हज पर जाने के लिए नई नीति का ड्राफ्ट तैयार किया गया है. जिसके अनुसार गया से हज के लिए जाने वाली उड़ाने बंद कर दी जाएंगी. साथ ही हज सब्सिडी भी खत्म करने का विचार है. गया समेत 12 अन्य शहरों से हज उड़ाने बंद कर दी जाएंगी. जिसके बाद 21 में से केवल 9 ही शहरों से यह सेवा उपलब्ध हो पाएगी.

शनिवार को अल्पसंख्यक मामलों के मंत्री मुख्तार अब्बास नकवी को सौंपे गए ड्राफ्ट में हज सब्सिडी खत्म करने का प्रस्ताव है. पूर्व सचिव अफजल अमानुल्लाह की अध्यक्षता वाले पैनल द्वारा तैयार ड्राफ्ट में कुल 16 सिफारिशें हैं. खर्च घटाने के लिए हज यात्रियों को हवाई जहाज के बजाय समुद्री रास्ते से भेजने का सुझाव भी दिया है. सूत्रों के मुताबिक ड्राफ्ट तैयार करते वक्त साल 2012 के सुप्रीम कोर्ट के आदेश का ख्याल रखा गया है.
कोर्ट ने 2022 तक सब्सिडी खत्म करने को कहा था. सूत्रों के अनुसार सब्सिडी से बचने वाली रकम मुस्लिमों की शिक्षा, सशक्तिकरण और कल्याण पर खर्च की जाएगी. ड्राफ्ट पर अभी मंत्रालय विचार करेगा. मंजूर होने वाली सिफारिशों पर अमल से पहले संबंधित पक्षों से भी बातचीत की जाएगी.
नए ड्राफ्ट में यह सब है…

45 साल से अधिक की महिलाएं 4 या अधिक के ग्रुप में बिना मेहरम हज पर जा सकेंगी. मेहरम यानी ऐसा पुरुष जिससे महिला कभी शादी कर सके. जैसे पिता, भाई और बेटा.

45 से कम की महिलाएं मेहरम के साथ ही जाएंगी. मेहरम का कोटा भी 200 से बढ़ाकर 500 किया जाए.
हज यात्रियों के प्रस्थान के स्थान 21 से घटाकर 9 करें. यह दिल्ली, लखनऊ, कोलकाता, अहमदाबाद, मुंबई, चेन्नई, हैदराबाद, बेंगलुरू आैर कोचीन में बनें. यहां हज हाउस भी बनाए जाएं.
हज यात्री हवाई जहाज के बजाय समुद्री मार्ग से जाएं. सऊदी सरकार से चर्चा के बाद शिप ऑपरेटर्स से आवेदन मांगकर मार्केट का अंदाजा ले सकते हैं. एक शिप में चार हजार से ज्यादा यात्री जा सकेंगे. 10 फेरों में 40 से 50 हजार यात्री चले जाएंगे.
अगले पांच साल के लिए हज कमेटी ऑफ इंडिया और प्राइवेट टूर ऑपरेटर्स के बीच हज कोटा का बंटवारा 70:30 के रेशियो में किया जाए. भारत का सालाना हज कोटा 1.70 हज यात्रियों का है.
2018 में हज नई नीति के तहत ही होगा. प्रस्तावित सुविधाओं के लिहाज से यह बेहतर नीति है. पारदर्शिता आएगी। हज यात्रियों की सुरक्षा सुनिश्चित होगी.

यह भी पढ़ें- बदल गए हैं नियमः अब एयरपोर्ट पर यात्री हुए परेशान तो नपेंगे अधिकारी

PUJA का सबसे HOT OFFER, यहां कुछ भी खरीदें, मुफ्त में मिलेगा GOLD COIN

अभी फैशन में है Indo-Western लुक की जूलरी, नया कलेक्शन लाए हैं चांद बिहारी ज्वैलर्स

मौका है : AIIMS के पास 6 लाख में मिलेगा प्लॉट, घर बनाने को PM से 2.67 लाख मिलेगी ​सब्सिडी

(लाइव सिटीज मीडिया के यूट्यूब चैनल को सब्सक्राइब करने के लिए आप यहां क्लिक कर सकते हैं. आप हमें फ़ेसबुक और ट्विटर पर फ़ॉलो भी कर सकते हैं.)