यहां रेप पीड़िता के हाथों में दी जाएगी बंदूक, जानिए क्या है वजह

लाइव सिटीज डेस्क : महिला सुरक्षा के लिए एक ओर जहां बिहार सरकार कई स्तर पर सुरक्षा व्यवस्था दुरुस्त कर रही है वहीं मध्यप्रदेश सरकार भी इसको लेकर गंभीर है. बता दें कि बिहार में हाल ही में हुई  कैबिनेट बैठक में कहा गया कि महिला सुरक्षा को ध्यान में रखते हुए जगह-जगह CCTV कैमरे लगाये जाएंगे. तो वहीं अब मध्यप्रदेश सरकार ने भी एक प्रस्ताव लाकर इस ओर पहल की है. इसके अनुसार अब रेप पीड़िता के हाथों में बंदूक देने की बात कही गई है.

मध्य प्रदेश सरकार के महिला और बाल विकास विभाग ने प्रदेश में दुष्कर्म पीड़ि‍ताओं को बंदूक का लाइसेंस देने का प्रस्ताव रखा है. इसके पीछे विभाग की मंत्री अर्चना चिटनीस का तर्क है कि महिलाओं की सुरक्षा को लेकर इंतजाम करना जरूरी है. जो भी इसकी पात्र होंगी उन्हें लाइसेंस दिया जाएगा, लेकिन प्राथमिकता दुष्कर्म पीड़ि‍ताओं को मिलेगी. हालाकि अभी इस प्रस्ताव पर आम राय बनना बाकी है.



विभाग का तर्क यह भी कि सभी दुष्कर्म पीड़ि‍ताओं को हर समय सुरक्षा दे पाना मुमकिन नहीं होता. कई बार देखने में आया है कि आरोपी अगर जमानत पर रिहा होता है तो पीड़ि‍ता को धमकाने की कोशिश की जाती है. इस तरह की घटनाओं को रोकने के‍ लिए बंदूक का लाइसेंस दिया जाना जरूरी है. भाजपा नेता करता था नाबालिग से रेप, सरकार में इस मंत्री का करीबी भी है

कहा जा रहा है कि अगर रेप पीड़िता के हाथों में बंदूक रहेगा तो वे सुरक्षित महसूस करेंगी. साथ ही उन्हें धमकाने वालों के भी होश ठिकाने रहेंगे. बहरहाल, यह अभी बस एक प्रस्ताव है. अगर इस पर मुहर लगती है तो महिलाओं के हौंसले बढ़ेंगे.