सुमो का बड़ा आरोप : राबड़ी देवी ने सीएम रहते औने-पौने भाव में खरीदी जमीन

लाइव सिटीज डेस्क : राजद सुप्रीमो लालू प्रसाद की फैमिली पर बेनामी संपत्ति को लेकर सुशील कुमार मोदी का हमला लगातार जारी है. सुमो ने इस बार राबड़ी देवी पर गंभीर आरोप लगाये हैं. सुमो ने राबड़ी देवी पर आरोप लगाते हुए कहा कि अपने मुख्यमंत्रित्व काल में राबड़ी देवी ने पद का दुरुपयोग कर एमएलए को-आॅपरेटिव की 10-10 लाख रुपये बाजार मूल्य की जमीन औने-पौने कीमत पर पूर्व मंत्री सुधा श्रीवास्तव और अब्दुल बारी सिद्दीकी से लिखवा लिया. 

सुमो ने कहा कि आश्चर्य की बात है कि 1992-93 में समिति से 5.59 डिसमिल जमीन 37 हजार रुपये में आवंटियों ने ली थी जिसे 10 वर्षों के बाद भी राबड़ी देवी ने मात्र 37 हजार रुपये में ही लिखवा लिया जबकि आज उस जमीन की बाजार कीमत एक करोड़ रुपये से ज्यादा होगी. 



तंज कसते हुए सुमो ने कहा कि आखिर तेजप्रताप और तेजस्वी यादव में ऐसी कौन सी खासियत है कि रघुनाथ झा और कांति सिंह जहां उन्हें करोड़ों के जमीन-मकान गिफ्ट कर देते हैं वहीं पूर्व मंत्री सुधा श्रीवास्तव और अब्दुल बारी सिद्दीकी जैसे अपनी लाखों की जमीन महज कुछ हजार में राबड़ी देवी को बेच देते हैं?

सुमो ने पूछा कि आखिर लालू प्रसाद के करीबी एमएलए को-आॅपरेटिव के अध्यक्ष जयप्रकाश नारायण यादव और सचिव भोला यादव ने अब तक आवंटियों की सूची सार्वजनिक कर यह क्यों नहीं बताया है कि किन आवंटियों को एक से अधिक प्लाॅट आवंटित किए गए हैं तथा किसने आवासीय की जगह व्यावसायिक इस्तेमाल किया है? को-आॅपरेटिव के नियमों की धज्जी उड़ाई गई है मगर उसे तत्काल भंग करने के बजाय सरकार गिरने के डर से मुख्यमंत्री अब तक क्यों चुप्पी साधे हुए हैं?

यह भी पढ़ें-  अगलगी वाले GV Mall में भी लालू फैमिली की संपत्ति तलाश ली सुशील मोदी ने
देश बचाओ नहीं बेनामी संपत्ति बचाओ रैली करने जा रहे हैं लालू