अब घर बैठे मिलेगा दाखिल-खारिज प्रमाण पत्र, सीएम नीतीश ने किया सुविधा का शुभारंभ

लाइव सिटीज, सेंट्रल डेस्क :  मुख्यमंत्री नीतीश कुमार ने राजस्व एवं भूमि सुधार विभाग की ऑनलाइन भूमि दखल-कब्जा प्रमाण पत्र की सुविधा का शुभारंभ किया. मुख्यमंत्री सचिवालय स्थित संवाद कक्ष से वीडियो कान्फ्रेन्सिंग के माध्यम से इस सुविधा का उद्घाटन किया.

सरकार के इस योजना से अब लोगों को  आसानी से भू-स्वामित्व प्रमाण पत्र उपलब्ध हो सकेगा. सबसे अधिक लाभ प्रवासी बिहारियों को मिलेगा. वे जहां काम कर रहे हैं, वहीं से आवेदन कर सकेंगे. जबकि पहले इसके लिए उन्हें बिहार आना पड़ता था.



ऑनलाइन भूमि दखल-कब्जा प्रमाण पत्र की सुविधा के शुभारंभ से भूमि विवादों की समस्या कम होगी. लोगों को सरकारी कार्यालयों के चक्कर नहीं लगे होंगे. पहले सरकारी कार्यालयों के चक्कर लगाने के दौरान ही कई तरह के भ्रष्टाचार की बातें सामने आती थी. इस सुविधा की शुरूआत होते ही अब लोगों को घर बैठे ही प्रमाण पत्र मिल जाएगा.

इस मौके पर सीएम के सलाहकार अंजनी कुमार सिंह, मुख्य सचिव दीपक कुमार, प्रधान सचिव चंचल कुमार, प्रधान सचिव कैबिनेट संजय कुमार, बिहार विकास मिशन के मिशन निदेशक विनय कुमार, योजना एवं विकास विभाग के सचिव मनीष कुमार वर्मा, सूचना एवं जन-सम्पर्क विभाग के सचिव अनुपम कुमार, मुख्यमंत्री के विशेष कार्य पदाधिकारी गोपाल सिंह उपस्थित रहे.

वीडियो कांफ्रेंसिंग के माध्यम से उप मुख्यमंत्री सुशील कुमार मोदी, राजस्व एवं भूमि सुधार मंत्री रामनारायण मंडल, राजस्व एवं भूमि सुधार विभाग के अपर मुख्य सचिव विवेक कुमार सिंह समेत कई अधिकारीगण भी जुड़े हुए थे.

बता दें कि मुख्यमंत्री नीतीश कुमार का मानना है कि बिहार में ज्यादा अपराध भूमि विवाद के कारण ही होते हैं. अगर इसका निपटारा कर दिया जाए तो अपराध पर काफी हद तक अंकुश लगाया जा सकता है.