अब बीजेपी के इस कद्दावर नेता ने थाम लिया लोजपा का दामन, यहां से लड़ेंगे चुनाव…

लाइव सिटीज, सेंट्रल डेस्क : लोजपा ने बिहार एनडीए से नाता तोड़कर जेडीयू के खिलाफ अपने उम्मीदवार देने का ऐलान किया है. लेकिन इसके लिए लोजपा लगातार बीजेपी में सेंधमारी कर रही है. बीजेपी नेता राजेन्द्र सिंह से शुरूआत होता यह सिलसिला धीरे-धीरे और आगे बढ़ता जा रहा है.

आज लोजपा में बीजेपी के उषा विद्यार्थी और तीसरा बड़ा चेहरा रामेश्वर चौरसिया शामिल हो गए. राजेन्द्र सिंह जहां दिल्‍ली में चिराग पासवान की मौजूदगी में एलजेपी में शामिल हुए. वहीं रामेश्वर चौरसिया और उषा विद्यार्थी पटना में प्रदेश अध्यक्ष प्रिंस, पूर्व सांसद सूरजभान सिंह की मौजूदगी में ‘बंगाल’ में प्रवेश किया.  बिहार की जातीय राजनीति में चौरसिया समाज के नेता रामेश्‍वर बीजेपी के सीनियर नेताओं में से माने जाते हैं,



बीजेपी नेताओं के पार्टी में स्वागत करते हुए पूर्व सूरजभान सिंह ने कहा कि 2005 के चुनाव में हमारी पार्टी को कितने प्रतिशन वोट मिले थे यह बात किसी से छिपी नहीं है. हमारा कुनबा लगातार बढ़ता जा रहा है. आगे भी यह सिलसिला जारी रहेगा.

वहीं लोजपा प्रदेश अध्यक्ष व सांसद प्रिंस ने कहा कि हमारी मुहिम में आने वाले लोगों का स्वागत है. लगातार हमलोग अपने लक्ष्य की ओर से बढ़ रहे हैं. ऐसे में जो भी लोग पार्टी में आएंगे उनका हमलोग स्वागत करेंगे.

वहीं पीएम का फोटो इस्तेमाल नहीं करने की बीजेपी की चेतावनी पर प्रिंस ने कहा कि पीएम सभी के हैं. उनके कार्य को पूरा देश जानता है. प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी ने बहुत सारे अच्छे काम किए हैं. बता दें कि राजेन्द्र सिंह को लोजपा ने दिनारा सीट से उम्मीदवार बनाया है. जहां से जेडीयू के कद्दावर नेता व मंत्री जयकुमार सिंह प्रत्याशी बनाए गए हैं. जबकि उषा विद्यार्थी को पालीगंज और रामेश्वर चौरसिया को नोखा से प्रत्याशी बनाए जाने की चर्चा हो रही है