लाइव ट्रेन स्टेटस के चक्कर में नहीं खाएंगे धोखा, इस तकनीक से मिलेगी सही जानकारी

लाइव सिटीज डेस्क : लाइव ट्रेन स्टेटस चेक करने का इन दिनों खूब चलन है. हर कोई यात्रा पर निकलने से पहले स्योर हो जाना चाहता है कि ट्रेन अभी कहाँ है और कितनी लेट है. इसमें यात्रियों की मदद कई तरह के एप करते हैं. जिसमें इंडियन रेलवे के एप महत्वपूर्ण हैं. लेकिन अक्सर इन एप से धोखा मिलने का डर रहता है. और कई दफे ट्रेनें छूट जाती थी. ऐसा रनिंग ट्रेन के स्टेटस में गलत फीडिंग की वजह से लोगों को काफी परेशानी होती थी. लेकिन अब ऐसा नहीं होगा. अब WhatsApp बताएगा कहाँ है आपकी ट्रेन, बस करना होगा आपको यह काम

क्योंकि जल्द ही ट्रेनों के लोकोमोटिव (इंजन) में डॉटा लाॅगर लग जाएगा. डॉटा लॉगर लगने से ऑटोमेटिक फीडिंग चार्ट बनता जाएगा. फिर ऑटोमेटिक फीडिंग होने लगेगी और यात्रियों को ट्रेनों के सही स्टेट्स की जानकारी मिलती रहेगी. इस बीच डॉटा लॉगर के बारे में डीआरएम ने बताया कि यह सुविधा जल्द ही लोकोमोटिव में लगाने की योजना है. डॉटा लॉगर लगने के बाद किसी तरह की गड़बड़ी नहीं होगी. इसका फायदा यह होगा कि ट्रेन लेट रहने पर भी कोई रेलकर्मी झूठ नहीं बोल पाएंगे.



दानापुर डीआरएम रंजन प्रकाश ठाकुर ने कथा था कि एनटीईएस में गलत फीडिंग करने वाले नपेंगे. जहां गाड़ी है, वहीं की पंक्चुएलिटी दिखाई जाएगी. इसके बाद उन्होंने फीडिंग मामले को लेकर रेलवे बोर्ड दूसरे मंडलों के अधिकारियों से संवाद किया. इसके बाद तमाम मंडलों में एनटीईएस में फीडिंग को लेकर कवायद शुरू हो गई.

दानापुर मंडल में भी कई तरह के सुधार हुए. डीआरएम ने बताया कि तमाम कवायद का असर हुआ है कि गलत फीडिंग कम हो गई है. अब महज 10 मिनट का टाइम वेरिएशन रह गया है. यह भी जल्द दूर कर लिया जाएगा. इस वजह से फीडिंग को लेकर कंप्लेन आना कम हो गया है. रेलवे के संबंधित कर्मचारी प्रॉपर फीडिंग कर रहे हैं.