चुनाव में मिली हार पर बेटे लव सिन्हा का ‘शॉटगन’ ने बढ़ाया हौसला, कहा- यह अंत नहीं है, आप यहां रहने के लिए हैं.

लाइव सिटीज, सेंट्रल डेस्क :  पटना जिले के बांकीपुर सीट से कांग्रेस प्रत्याशी व शत्रुघ्न सिन्हा के बेटे लव सिन्हा को करारी शिकस्त मिली है. बीजेपी प्रत्याशी नितिन नवीन की 39036 वोट से जीत मिली है. लव सिन्हा और प्लूरल्स के अध्यक्ष पुष्पम प्रिया चौधरी और बीजेपी से नितिन नवीन यहां से उम्मीदवार थे. लव सिन्हा और पुष्पम प्रिया चौधरी ने अपनी जीत सुनिश्चित करने के लिए एड़ी चोटी का जोड लगा दिया था. लेकिन दोनों को इस सीट से हार मिली है.

बांकीपुर सीट से मिली हार पर कांग्रेस प्रत्याशी लव सिन्हा का उनके पिता शत्रुध्न सिन्हा ने हौसला फजाई की है. उन्होंने ट्वीट कर लिखा की  “लव, हमें आप पर बहुत गर्व है। कई लोग आपसे सीख सकते थे, जब मैंने शुरुआत की तो ईमानदारी, पूरी लगन और लगन के साथ काम किया। यह अंत नहीं है, आप यहाँ रहने के लिए हैं। आगे के भविष्य के लिए शुभकामनाएं। हम उनके लिए सभी को धन्यवाद देना चाहेंगे”.



उधर बांकीपुर सीट से मिली जीत के बाद नितिन नवीन ने भगवान से आर्शीवाद लेने पटना के हनुमान मंदिर पहुंचे. मंदिर में मत्था टेका और जीत का सारा श्रेय भगवान और क्षेत्र की जनता को दिया. मीडिया से बात करते हुए नितिन नवीन ने कहा कि मेरी जीत जनता की जीत है. जनता ने इसबार भी अपना सेवक चुना है.

उन्होंने कहा कि भगवान के दर पर आकर मैंने आर्शीवाद मांगा कि मुझे इतनी शक्ति दे कि अपने क्षेत्र की जनता से किए वादे को हर हाल में पूरा कर सकूं. जनता ने अपना भरपूर प्यार दिया है. बांकीपुर की जनता को मैं जीतना धन्यवाद दूं उतना कम होगा.

वहीं चिराग पासवान के अलग चुनाव लड़ने को लेकर उन्होंने कहा कि सभी को अपनी बात रखने और क्षमता आंकने की आजादी है. ऐसे में अगर चिराग अलग चुनाव लड़े तो यह उनकी अपनी मर्जी थी. लेकिन साथ रहते तो आज तस्वीर कुछ और होती.

बीजेपी को ज्यादा सीटें आने पर नितिन नवीन ने कहा कि ज्यादा, कम सीटों से कोई मतलब नहीं है. बीजेपी पहले ही कह चुकी है कि बिहार का मुख्यमंत्री नीतीश कुमार होंगे. इसमें कोई इफ बट का सवाल हीं नहीं उठता है.