एकबार फिर बच गयी पटना मेयर की कुर्सी, अविश्वास प्रस्ताव गिरा

लाइव सिटीज, सेंट्रल डेस्क : पटना की महापौर सीता साहू एक बार फिर अपनी कुर्सी बचने में कामयाब रही. वोटिंग में मेयर के खिलाफ अविश्वास प्रस्ताव गिर गया.  पटना के एसकेएम हॉल में अविश्वास प्रस्ताव पर वोटिंग हुई. जिसमें मेयर के विरोध में मात्र 4 वोट पड़े. अविश्वास प्रस्ताव लाने वाले ज्यादातर पार्षदों ने बैठक से पहले ही वॉकआउट कर दिया था.

बताया जा रहा है कि बैठक में मेयर सीता साहू करीब आधे घंटे देर से पहुंची. मेयर के पहुंचने से पहले ही विरोध खेमे के कई वार्ड पार्षद बैठक से वॉकआउट कर गए थे. ऐसे में मेयर ने वोटिंग करायी. जिसमें उनके खिलाफ मात्र 4 वोट ही गिरे.



मेयर को कुर्सी से हटाने के लिए 38 मत चाहिए थी. लेकिन मात्र 4 मत पड़ने से उनकी कुर्सी सुरक्षित रह गयी. बताया जा रहा है कि विरोधी खेमे के नेतृत्व कर रहे वार्ड पार्षद विनय कुमार पप्पू पहले से ही कोरोना संक्रमित हैं. उन्होंने घर से ही वोटिंग करने की व्यवस्था किए जाने की मांग की थी. ऐसे में उनके अस्वस्थ्य रहने के कारण विरोध खेमा विखर गया और इसका फायदा मेयर गुट को मिल गया.

41 पार्षदों ने अविश्वास प्रस्ताव पर हस्ताक्षर किया था. जिसको लेकर विनय कुमार पप्पू ने मेयर के खिलाफ ताल ठोकी दी थी. लेकिन एक बार मेयर के सामने विरोधी खेमा की रणनीति काम नहीं आयी. कहा यह भी जाता है कि मेयर सीता साहू के विरोध में विरोधी खेमा से कोई भी पार्षद मेयर की कुर्सी के लिए आगे नहीं आय़ा. यह भी एक कारण विरोधी खेमा के विखरने का बताया जा रहा है.