विपक्ष जेईई-नीट की परीक्षा रद्द कराकर मेडिकल-इंजीनियरिंग के निजी संस्थानों को मोटी कमाई का मौका देना चाहता है

लाइव सिटीज, सेंट्रल डेस्क : डिप्टी सीएम सुशील कुमार मोदी ने ट्वीट कर कहा कि समय पर लाकडाउन लागू करने और जांच की सुविधाएं बढ़ाने से कोरोना संक्रमण पर नियंत्रण पाने में भारत का रिकार्ड उत्साहवर्धक रहा. इसलिए अर्थव्यवस्था को चरणबद्ध तरीके से खोलने के भी अच्छे परिणाम मिल रहे हैं. बाजार खुल रहे हैं.

लेकिन विडम्बना यह कि जो लोग दिल्ली मेट्रो खोलने की अपील कर रहे हैं और मजहबी जुलूस निकालने की  इजाजत चाहने वालों का साथ दे रहे हैं, वे जेईई-नीट की परीक्षाएं नहीं होने देना चाहते. जिस कांग्रेस, राजद, सपा, टीएमसी ने नोटबंदी का विरोध कर कालाधन बनाने वालों का एजेंडा चलाया था, वही अब जेईई-नीट की परीक्षा रद्द कराकर मेडिकल-इंजीनियरिंग के निजी संस्थानों को मोटी कमाई का मौका देना चाहते हैं.



आगे सुशील मोदी ने लिखा कि राफेल विमान की खरीद हो या पीएम केयर फंड, सुप्रीम कोर्ट ने ईमानदारी और  नेकनीयती की कसौटी पर एनडीए सरकार के हर फैसले को खरा पाया और न्याय की सर्वोच्च पीठ का राजनीतिक दुरुपयोग करने की विपक्ष की मंशा को करारा झटका दिया.

वहीं सुशील मोदी ने लिखा कि बिहार में चुनाव रोकने की अपील करने वाली याचिका खारिज कर सुप्रीम कोर्ट ने चुनाव आयोग की संवैधानिक स्थिति का सम्मान किया. विपक्ष को न जनता की चुनी हुई सरकार के फैसले पर भरोसा है, न संवैधानिक संस्थाओं पर, लेकिन वह लोकतंत्र बचाने का नाटक जोर-शोर से करता है.