‘रावण’ के साथ मिलकर पप्पू यादव चुनाव में विरोधियों करेंगे चित, बन गया प्रगतिशील लोकतांत्रिक गठबंधन

लाइव सिटीज, सेंट्रल डेस्क : बिहार विधानसभा चुनाव इस बार कई मायने में अलग होने जा रहा है. कोरोना काल में यह चुनाव जहां चुनाव आयोग के लिए एक टफ वर्क है, वहीं पार्टियों के लिए बिना सभा और रैली के चुनावी दंगल को जीतना भी एक चुनौती है. इस लिए सभी दल रात हर वो दांव अपना रहे हैं जिससे विरोधियों को चारों खाने चीत किया जा सके.

दूसरे दलों में सेंधमारी, नये गठबंधन की तलाश और प्रत्याशियों की जमीनी पड़ताल इन दिनों बिहार के सियासी गलियारों में ये सब खूब चल रहा है. इसी कड़ी में जाप अध्यक्ष पप्पू यादव की अगुवाई में एक नये गठबंधन ने जन्म ले लिया. जिसका प्रगतिशील लोकतांत्रिक गठबंधन नाम दिया गया है.



इस गठबंधन में जाप, भीम आर्मी, बीएमपी, एसडीपीआई पार्टियां एक मंच पर आयी है. जिसका चेहरा जाप अध्यक्ष पप्पू यादव को बनाया गया है. जिसकी घोषणा भीम आर्मी के संस्थापक चंद्रशेखर आजाद उर्फ रावण ने की है. उन्होंने घोषणा करते हुए कहा कि प्रगतिशील लोकतांत्रिक गठबंधन का दरवाजा सभी के लिए खुला है. समान विचारधारा वाली पार्टियों का स्वागत है.

वहीं गठबंधन की ओर से चेहरा बनाए जाने पर पप्पू यादव सभी साथियों को धन्यवाद दिया. साथ ही उन्होंने महागठबंधन में कांग्रेस की हालात पर प्रतिक्रिया देते हुए कहा कि कांग्रेस खुद अपमानित हो रही है, उसे अपमानित होने की आदत पड़ गयी है. कांग्रेस एक पुरानी पार्टी है. जिसकी अपनी जमीन है. फिर भी उसके साथ ऐसा व्यवहार किया जा रहा है जैसा नये पार्टियों के साथ किया जाता है.

पप्पू यादव ने आगे कहा कि प्रगतिशील लोकतात्रिक गठबंधन में कांग्रेस अगर आती है तो उनका स्वागत है. लोजपा, रालोसपा और यशवंत सिन्हा का अलायंस का भी पप्पू यादव ने नये गठबंधन में आने का आमंत्रण दिया. उन्होंने कहा कि 30 साल से बिहार पर दो भाईयों ने राज किया. लेकिन जातिवाद की जहर, समाज में वैमनस्तता का भाव पैदा करने का काम किया.