पप्‍पू यादव ने लोकसभा में उठाया फर्जी डॉक्‍टर व क्लिनिक का मामला

पटना: जन अधिकार पार्टी (लो) के संरक्षक और सांसद राजेश रंजन उर्फ पप्‍पू यादव ने पटना में फर्जी डॉक्‍टर और फर्जी नर्सिंग होम की मनमानी और मरीजों के आर्थिक दोहन के मामले को लोकसभा में उठाया. उन्‍होंने कहा कि  पटना में एक नर्सिंग होम में बंधक बनाये गये मरीज के मुक्‍त कराने के दौरान उनके खिलाफ थाने में मुकदमा दर्ज किया गया और अपमानित किया गया. सांसद ने इस घटना को विशेषाधिकार हनन का मामला बताया और इसे विशेषाधिकार समिति को सौंपने का आग्रह लोकसभा अध्‍यक्ष से किया. अस्पताल-डॉक्टर से परेशान हैं तो पप्पू यादव को करें फ़ोन, शैम्पू लगाकर होगी धुलाई

बाद में सांसद ने पत्रकारों को बताया कि देश में फर्जी डॉक्‍टरों और क्लिनिकों का गिरोह कार्य कर रहा है और मरीजों को लूट रहा है. एमसीआई को सही और गलत डॉक्‍टरों की सूची जारी करनी चाहिए, ताकि मरीजों का शोषण नहीं हो. सड़क परिवहन व राजमार्ग मंत्री नितिन गडकरी से मुलाकात के संबंध में उन्‍होंने बताया कि नौकरशाही की मनमानी और लापरवाही के कारण कोसी की विकास योजनाएं अधर में लटक गयी हैं. सहरसा के बंगाली अखाड़ा के पास रेलवे ऊपरि पुल का निर्माण मंजूरी के डेढ़ साल के बाद भी शुरू नहीं हुआ है.



उन्‍होंने कहा कि  कोसी में सड़क नेटवर्क बदहाल है और डेढ़ साल बाद चुनाव होने वाला है. जनता हमारे कार्यों का हिसाब मांगेगी. इसलिए कोसी के लिए कई राष्‍ट्रीय राजमार्ग मंजूर करने की मांग की और ज्ञापन सौंपा. ज्ञापन में कुरसैला से सौरबाजार तक, माली एनएच 107 से फुलौत 106 तक, प्रतापगंज एनएच से सैफगंज एनएच तक, एनएच 57 रानीगंज से रामगनर तक, एनएच 107 महेशखूंट से चौसा एनएच तक, सहरसा जिले के एनएच 107 सोनवर्षा से सहरोचिया एनएच 106 तक, नौ‍गछिया एनएच 31 से वीरपुर एनएच 106 तक, प्रतापगंज से भरगामा तक की सड़क को राष्‍ट्रीय उच्‍च पथ के रूप में मंजूरी प्रदान करने की मांग की.