किसानों के समर्थन में उपवास पर बैठे पप्पू यादव, तीनों कृषि कानून को रद्द करने की मांग

लाइव सिटीज, सेंट्रल डेस्क : किसानों के समर्थन में जन अधिकार पार्टी (लो) के राष्ट्रीय अध्यक्ष पप्पू यादव गाँधी मैदान में गाँधी मूर्ति के नीचे उपवास पर बैठे. किसानों के खिलाफ पुलिस द्वारा की गई कार्रवाई के विरोध में तरके सुबह से उपवास पर बैठे पप्पू यादव ने कहा कि किसान आंदोलन को आम लोगों का भी भरपूर साथ मिल रहा है. हम मजबूती से किसानों के साथ खड़े हैं.

केंद्र सरकार पर हमला बोलते हुए जाप अध्यक्ष ने कहा कि सरकार किसानों को परेशान करना बंद करे. उन पर किसी भी प्रकार का अत्याचार हमें बर्दाश्त नहीं है. अगर किसानों की मांगों को पूरा नहीं किया गया और कृषि कानून रद्द नहीं हुए तो हम अपनी लड़ाई और तेज करेंगे.



पप्पू यादव ने आगे कहा कि अंग्रेजी शासनकाल के दौरान हमारे देश के महापुरूषों ने लड़ाई लड़ी थी और अंग्रेजों को पीछे हटना पड़ा था. आज की सरकार अंग्रेजों से भी ज्यादा क्रूर है. नफ़रत, घृणा, ईर्ष्या और क्रोध से भरा शासक कभी जनता की भलाई नहीं कर सकता.

पप्पू यादव ने कहा कि आंदोलन के दौरान अभी तक 133 किसानों की मृत्यु हो चुकी है. दो महीने से ज्यादा समय तक किसान ठंड में बैठे रहे तब सरकार को चिंता नहीं हुई. फिर बाद में एक सोची समझी साजिश के तहत ट्रैक्टर रैली के लिए हरी झंडी दी गई. और अब उसका फायदा उठाकर किसानों के आंदोलन को ख़त्म किया जा रहा है.

26 जनवरी को हुई घटना पर बोलते हुए पप्पू यादव ने कहा कि ट्रैक्टर रैली के दौरान आई.टी.ओ. गोलम्बर पर दस हज़ार किसान अचानक कहाँ से आ गए? वो खुद आए या किसी द्वारा लाए गए? पुलिस ने किसानों पर आंसू गैस के गोले छोड़े. मैं इन सभी की न्यायिक जांच की मांग करता हूँ.

इस दौरान पप्पू यादव ने गाँधी मैदान में युवाओं से भी बातचीत की और उनकी समस्याओं को सुना. उपवास में पार्टी के राष्ट्रीय प्रधान महासचिव रघुपति सिंह, पूर्व विधायक भाई दिनेश, राम चन्द्र यादव, अजय बुल्गागीन, राष्ट्रीय महासचिव प्रेमचंद सिंह, राजेश रंजन पप्पू, महिला प्रकोष्ठ की अध्यक्ष रानी चौबे, राजू दानवीर, हरेराम महतो, सच्चिदानंद राय, अकबर अली, अरुण कुमार, गौतम आनन्द, आज़ाद चाँद, ज्योति चंद्रवंशी, पूनम झा, बबन यादव, कमलेश तिवारी, शाहान परवेज, संजय सिंह, सन्नी यादव, सन्नी सिंह, पिंटू यादव समेत पार्टी के तमाम नेता मौजूद रहें.