फुलवारीशरीफ में पप्पू यादव ने शुरू किया संपर्क पुल, सरकार पर जमकर साधा निशाना

लाइव सिटीज, सेंट्रल डेस्क : जन अधिकार पार्टी लोकतांत्रिक के राष्ट्रीय अध्यक्ष राजेश रंजन उर्फ पप्पू यादव ने आज फुलवारीशरीफ के कोरजी गांव में संपर्क पुल का उद्घाटन किया. इस दौरान उन्होंने मीडिया से बात करते हुए कहा कि अफसोस की बात है कि मिनट टू मिनट टैक्स की वृद्धि करने वाली नीतीश सरकार नागरिकों को आवश्यक सुविधाएं भी मुहैया नहीं करा पा रही है.

इन्होंने कहा कि कोरजी गांव के ऊर्जावान नौजवानों ने सिस्टम को चुनौती देते हुए इतिहास बदल दिया और उस काम को पूरा किया जो सरकार नहीं कर पा रही थी. उन्होंने कहा कि मैंने भी पूरी मदद की और 10 दिनों के अंदर सिस्टम को चुनौती देते हुए पुलिया का निर्माण किया.



नेता, सरकार और सिस्टम को शर्म आनी चाहिए

उन्होंने कहा कि नेता, सरकार और सिस्टम को शर्म आनी चाहिए कि आजादी के 70 वर्षों बाद भी लोगों को  पटना से 10 किलोमीटर पर होते हुए भी संपर्क के लिए पुलिया नही मिल सका. यह पुलिया विकास में फुलवारीशरीफ के लिए मील का पत्थर साबित होगा. गरीब मजदूर का ब्लॉक मे चक्कर लगाना यह साबित करता है कि भ्रष्टाचार बढ़ रहा है. उन्होंने कहा कि आज बड़ी आवश्यकता है कि भ्रष्ट सिस्टम को ठीक करने के लिए नेताओं-पदाधिकारियों की संपत्ति का पता लगाकर उन्हें जब्त किया जाए.

पप्पू यादव ने आगे कहा कि धर्म-जाति के आधार पर वोट देने के कारण ही समाज को ऐसी स्थिति का सामना करना पड़ रहा है. रोपेंगे बबूल तो क्या खाएंगे खजूर. उन्होंने कहा कि बदलाव के लिए तथा रोजगार नहीं तो सरकार नहीं, सुविधा नहीं तो टैक्स नहीं एवं आम जनता के हितों की मांग को लेकर 24 नवंबर को जनक्रांति मार्च पटना के राजेंद्र नगर से राजभवन तक किया जाएगा.

इस अवसर पर पार्टी के राष्ट्रीय प्रधान महासचिव एजाज अहमद ने बताया कि 200 से अधिक लोगों ने पप्पू यादव जी के समक्ष पार्टी की सदस्यता ग्रहण की है और लोगों ने संकल्प लिया है कि पप्पू यादव के नेतृत्व में सहयोग और समर्थन में नौजवान और छात्र खड़े रहेंगे.

कार्यक्रम की अध्यक्षता कोरजी सेवा संघ के अध्यक्ष रजत भारती ने की. जबकि कार्यक्रम को सफल बनाने में विवेक भारती, स्वेक गिरी, वत्स प्रियदर्शी, शुभम भारती, संतोष शर्मा, सुमित शर्मा के अलावा अवध नंदन, जितेंद्र भारती, रितेश भारती,  जिला परिषद सदस्य राजा चौधरी, उप प्रमुख संजीव कुमार, मोहम्मद इश्तियाक आलम के अलावा कोरजी सेवा संघ के नेता और पदाधिकारी और सैकडों की संख्या में ग्रामीण भी उपस्थित थे.

पंचायती के बीच कर दी थी फायरिंग और रवि के सिर को भेदती हुई बाहर निकल गई गोली