महज 2 घंटे में ही अपने बयान से पलटे पशुपति कुमार पारस, सीएम नीतीश को बता डाला सबसे बड़ा फेल्योर सीएम

लाइव सिटीज, सेंट्रल डेस्क : महज 2 घंटे में ही लोजपा सांसद पशुपति कुमार पारस ने यू टर्न ले लिया. एक साक्षात्कार के दौरान उन्होंने चिराग पासवान की राय से इतर बिहार में विकास होने की बात कही. लेकिन जब इस बयान को लेकर उनके ही घर में विरोध होने लगा तो आनन फानन में उन्होंने प्रेस कांफ्रेस बुलायी और नीतीश कुमार को आज तक का सबसे बड़ा फेल्योर सीएम करार दे डाला.

उन्होंने कहा कि पिछले 15 सालों में नीतीश कुमार ने बिहार को बर्बाद करने का काम किया. उनके राज में बिहार में ना तो शिक्षा के क्षेत्र में काम हुआ है और ना ही स्वास्थ्य व्यवस्था में सुधार हुआ है. अस्पतालों में कुत्ते बेड पर सोते हैं. स्कूलों खंडहर बना हुआ है. लेकिन इसकी सुधी लेने वाला कोई नहीं है.



उन्होंने सीएम नीतीश को पलटू राम करार देते हुए कहा कि लोजपा का बीजेपी के साथ 2014 से संबंध है. लेकिन नीतीश कुमार अपने फायदे के लिए बीजेपी का साथ छोड़कर महागठबंधन में चले गए. फिर वहां बात बिगड़ी तो फिर से वापस बीजेपी के साथ आ गए. यह सब तो कोई पलटू राम ही कर सकता है.

बिहार में अच्छी सड़क और बिजली व्यवस्था होने के सवाल पर उन्होंने कहा कि यह सब देन केन्द्र सरकार की है. इसमें राज्य सरकार का कोई योगदान नहीं है. पिछले 15 सालों में बिहार को बर्बाद करने में नीतीश कुमार का अहम योगदान है. आने वाले समय में बिहार के युवा अशिक्षित, बेरोजगार रह जाएगा. पूरे देश में नीतीश कुमार सबसे बड़े फेल्योर सीएम हैं.  

बता दें कि इसके पहले उन्होंने एक साक्षात्कार के दौरान कहा था कि नीतीश जी के मंत्रिमंडल में मैं लगभग पौने दो साल मंत्री रहा और मुझे उनके काम करने का तरीका बहुत अच्छा लगा. इसमें कहीं कोई कमी नहीं है. वह हमेशा विकास की बात करते थे. अब इतना बड़ा स्टेट है, कहीं ना कहीं कुछ होता है, लेकिन हम उनको देखे हैं, वह काफी विकास की बात करते थे. विकास की बात चौबीसों घंटे अपने कैबिनेट में भी करते थे. कैबिनेट के सहयोगियों के साथ भी विकास की ही बात करते थे. उसमें कहीं कोई कमी नहीं है.