छठ को लेकर पटना जिला प्रशासन ने जारी कर दिया गाइडलाइन, जान लीजिए इन सब नियमों का पालन करना होगा…

लाइव सिटीज, सेंट्रल डेस्क :  कोरोना काल में छठ पूजा जिला प्रशासन के लिए एक बहुत बड़ी चुनौती है. जिसको लेकर जिला प्रशासन की ओर से सुझाव के साथ गाइडलाइन जारी किया गया है. जिलाधिकारी कुमार रवि ने गाइडलाइन की बातों का जिक्र करते हुए बताया कि पर्व करने वालों को अर्घ देने के दौरान डुबकी नहीं लगाने का सुझाव दी गयी है. अगर व्रती को बुखार हो तो वो घाट पर ना जाएं.

वहीं जिला प्रशासन ने लोगों से अपील किया है कि कोरोना काल में लोग घाट पर जाने से परहेज करें. ज्यादा से ज्यादा अपने घर के छत पर पूजा का आयोजन करने की सलाह दी गयी है. डीएम ने कहा कि प्रशासन प्रचार-प्रसार कर रहा है, जिससे पूजा के साथ-साथ कोरोना से भी बचाया जा सके.



डीएम कुमार रवि ने अधिकारियों के साथ कोविड से बचाव को लेकर बैठक की. जिसमें छठ पर्व को लेकर विस्तार से चर्चा किया गया. कैसे सुरक्षित पर्व का आयोजन हो इसको लेकर हरेक बिन्दु पर विचार विमर्श किया गया. जिसमें यह बात सामने आयी की सभी व्रती यथासंभव अपने घर पर ही छठ पूजा का आयोजन करें तो संक्रमण से बचा सकता है.

डीएम कुमार रवि ने कहा है कि कोरोना के इस दौर में प्रत्येक व्यक्ति सावधान रहें, सतर्क रहें एवं सजग रहें तथा भीड़-भाड़ नहीं लगाएं. 2 गज की दूरी का पालन करें तथा मास्क का प्रयोग जरूर करें. छठ घाटों पर भीड़ भाड़ नहीं लगाई जाएगी तथा वाहनों का प्रवेश प्रतिबंधित रहेगा.

उधर स्वास्थ्य विभाग ने छठ पर्व के दौरान बुखार से ग्रस्त व्यक्ति, 60 साल से ऊपर के व्यक्ति, 10 साल से कम उम्र के बच्चे एवं अन्य गंभीर बीमारियों से ग्रस्त व्यक्तियों को छठ घाटों पर नहीं जाने की सलाह दी है. छठ व्रत के दौरान प्रत्येक व्यक्ति को मास्क का प्रयोग करने तथा 2 गज की दूरी का अनिवार्य रूप से पालन करने की भी सलाह दी गई है.