निखिल प्रियदर्शी के मित्र संजीत शर्मा को हाई कोर्ट से झटका

NIKHIL-PROFILE.jpg

पटना : बेऊर जेल में बंद ऑटोमोबाइल कारोबारी निखिल प्रियदर्शी की मुश्किलें कम होती नहीं दिख रही है . कांग्रेस के पूर्व मंत्री की बेटी प्रिया (बदला नाम) के साथ यौन शोषण मामले में निखिल प्रियदर्शी के साथ अभियुक्त रहे संजीत कुमार शर्मा को पटना हाई कोर्ट ने कोई राहत नहीं प्रदान की .

पटना हाई कोर्ट के जस्टिस ए के त्रिवेदी ने संजीत कुमार शर्मा की ओर से दायर याचिका को निष्पादित कर दिया है .हाई कोर्ट के निर्णय के बाद संजीत शर्मा की गिरफ्तारी की संभावनाएं बढ़ी हैं . गिरफ़्तारी के वारंट के लिए संबंधित कोर्ट में कांड की इंवेस्टिगेटिंग अफसर ने पहले ही एप्लीकेशन लगा रखी है . जांच के दौरान केस के आरोपी बनाए गए कांग्रेस नेता ब्रजेश पांडेय की गिरफ्तारी के लिए भी वारंट की मांग की गई है . बताते चलें कि इस मामले में जेल में मेन आरोपी निखिल प्रियदर्शी के साथ उसके पिता रिटायर्ड आईएएस कृष्ण बिहारी प्रसाद सिन्हा और बड़े भाई मनीष प्रियदर्शी भी जेल में बंद हैं . निखिल प्रियदर्शी और उनके पिता को 14 मार्च 2017 को उत्तराखंड में बड़ी मशक्कत के बाद गिरफ्तार किया गया था . साथ में,ऑडी गाड़ी भी जब्त की गई थी .

NIKHIL-PROFILE.jpg

निखिल प्रियदर्शी का मित्र कहा जाने वाला संजीत शर्मा के बारे में जानकारी है कि वह पहले भी जेल जा चुका है . तब मामला धोखाधड़ी का था . संजीत के खिलाफ धोखाधड़ी का मामला भाजपा के एक विधान पार्षद की कंपनी की ओर से भी दर्ज कराया गया था . आरोप कपटपूर्ण तरीके से बड़ी राशि को हड़प जाना था . आगे और बड़े नुकसान को रोकने को कई उपाय करने पड़े थे .

निखिल प्रियदर्शी पर लाइव सिटीज की पूरी कवरेज पढ़ने के लिए यहां क्लिक करें

जेल से एक्टिव हुआ निखिल प्रियदर्शी,दर्ज कराई पुलिस में प्राथमिकी

इधर,यह भी खबर मीडिया में तेज फ़ैल रही है कि निखिल प्रियदर्शी कोर्ट से बाहर सुलह-समझौते के माध्यम से अपनी परेशानियों को दूर करने की कोशिश में लगा है . लेकिन इस चर्चा के बारे में कंफर्म कोई भी पक्ष बोलने को तैयार नहीं है . यौन शोषण की पीड़िता प्रिया भी इधर के दिनों में किसी के संपर्क में नहीं है .

यह भी पढ़ें :
नप गए रूपसपुर के थानेदार , हुए लाइन हाजिर
बैंक में रूपये थे नहीं, करोड़ों का चेक जारी कर रहा था निखिल प्रियदर्शी
निखिल प्रियदर्शी ने स्‍टेट बैंक का भी हड़प रखा है 46 करोड़ रुपया