बिहार में लॉकडाउन के बावजूद भी नहीं सुधर रहे लोग, मास्क नहीं पहनने के आरोप में 15 दिन में वसूला गया 29 लाख रुपए

लाइव सिटीज, सेंट्रल डेस्क: कोरोना संक्रमण को लेकर बिहार में लोग लापरवाही कर रहे हैं. कोरोना वायरस के संक्रमण को देखते हुए राज्य सरकार ने लॉकडाउन लागू किया था, जिसमें लोगों को मास्क लगाना अनिवार्य किया गया था. पिछले 15 दिनों में करीब 17 हजार ऐसे लोग पकड़े गए जो बगैर मास्क के चल रहे थे. ऐसे लोगों पर अधिकारियों की टीम ने 28 लाख 36 हजार का जुर्माना किया है. बिहार के लोगों ने इतनी बड़ी राशि जुर्माना दे दिया. लेकिन मास्क पहनने को तैयार नहीं है.

पिछले 15 दिनों से राज्य में लॉकडाउन के दौरान जिला प्रशासन ने सशर्त लोगों की आने- जाने की छूट दे रखी थी लेकिन लोगों ने लापरवाही जारी रखी. डीएम कुमार रवि ने आठ ऐसी टीमें गठित की थी जो सड़क पर चलने वाले लोगों के मास्क की चेकिंग कर रही थी. इस दौरान टीम ने 16 हजार 993 लोगों को बगैर मास्क के पकड़ा. इसमें अनुमंडल स्तर पर गठित टीम ने 8735, एसएसटी की ओर से गठित टीम ने 8144, ट्रैफिक पुलिस द्वारा 2877 तथा कार्यपालक पदाधिकारियों द्वारा 1298 लोगों को बगैर मास्क के पकड़ा.



पटना में जांच तेज हैं. रोज करीब 200 लोगों को पकड़ा जा रहा है. जो गरीब तबके के लोग हैं उन्हें मास्क को लेकर जागरूक किया जा रहा है. पटना में दुकान चलाने वालों के खिलाफ की कड़ी कार्रवाई ह रही है. बिना मास्क पहनने वाले दुकानदार और सैनिटाइजर नहीं रखने वालों के खिलाफ कार्रवाई की जा रही है. पिछले 15 दिनों में 235 दुकानों पर कार्रवाई की गई और बंद कराने के साथ जुर्माना भी लिया गया. मास्क औ दुकानों के जुर्माना के साथ ही करीब 29 लाख रुपए की वसूली सरकार ने जुर्माना के तौर पर कर लिया है.