बिहार विधानसभा चुनाव पर रोक लगाने को दायर याचिका खारिज, सुप्रीम कोर्ट ने कहा- कोरोना चुनाव टालने की कोई वजह नहीं हो सकता

लाइव सिटीज, सेंट्रल डेस्क: बिहार में कोरोना महामारी और बाढ़ की स्थिति के मद्देनजर बिहार विधानसभा चुनाव 2020 पर रोक लगाने के लिए दायर याचिका सुप्रीम कोर्ट में खारिज कर दी गई. कोर्ट ने कहा है कि चुनाव आयोग के काम में कोर्ट दखलंदाजी नहीं कर सकता और आयोग अपना काम करेगा. हम कोरोना की वजह से इसे नहीं टाल सकते. इस मामले में चुनाव आयोग ही सब कुछ फैसला लेगी. इससे बिहार के विपक्षी दलों के नेताओं को बड़ा झटका लगा है.

दरअसल विपक्षी दलों के नेताओं ने सुप्रीम कोर्ट में एक याचिका दायर की थी कि कोरोना संक्रमण के इस दौर में चुनाव खतरे से खाली नहीं है इसलिए चुनाव को फिलहाल टाल देना चाहिए. इस पर सुप्रीम कोर्ट ने सुनवाई करते हुए बड़ी टिपण्णी की है. 



जस्टिस अशोक भूषण की अध्यक्षता वाली बेंच ने कहा कि ‘कोविड-19 के आधार पर चुनावों को नहीं टाला जा सकता. भारत का चुनाव आयोग ही सबकुछ तय करेगा. बेंच ने कहा कि यह एक प्रीमैच्योर याचिका है क्योंकि चुनाव आयोग की तरफ से विधानसभा चुनावों के लिए अब तक कोई अधिसूचना जारी नहीं की गई है. इस पीठ ने जस्टिस आर एस रेड्डी और एम आर शाह भी थे.

आपको बता दें कि अविनाश ठाकुर द्वारा सुप्रीम कोर्ट में चुनाव को टालने के लिए याचिका दायर की गई थी, जिसे SC ने ख़ारिज कर दिया है. फैसले से अब साफ़ हो गया है कि बिहार में चुनाव ससमय होंगे और सुप्रीम कोर्ट ने मामले में हरी झंडी भी दिखा दी है.