बेगूसराय में पेट्रोल पंप से डेढ़ लाख की लूट, मुंशी जख्मी

petrol-pump-loot

लाइव सिटीज डेस्क/ बेगूसराय (बिनोद कर्ण) : सूबे में पेट्रोल पंप पर लूट की घटना थम नहीं रही है. कभी पटना में तो कभी समस्तीपुर व गया में और कभी अन्य जिलों में इस तरह के मामले सामने आ रहे हैं.

इससे सूबे के पेट्रोल पंप वाले सहमे हुए हैं और आक्रोश में हैं. ताजा मामला बेगूसराय का है. बेगूसराय के साहेबपुर कमाल में अपराधियों ने पेट्रोल पंप से डेढ़ लाख रुपये लूट लिये. अपराधी बाइक से आये हुए थे और घटना को अंजाम देकर फरार हो गये. खास बात कि यह पेट्रोल पंप थाने के निकट ही है.

बताया जाता है कि साहेबपुर कमाल के थाना चौक के निकट बोलबम पेट्रोल पंप पर है. वहां आर्म्स से लैस चार अपराधर पहुंचे और घटना को अंजाम दिया. इस क्रम में पेट्रोल पंप पर तैनात मुंशी दीपक कुमार को घायल कर दिया और उससे अपराधियों ने डेढ़ लाख रुपये लूट लिये.

घटना की सूचना मिलते ही डीएसपी रंजन कुमार वहां छानबीन के लिए पहुंच गये. संबंधित थाने के प्रभारी राजेश कुमार समेत वहां की पुलिस भी पहुंच गयी है. सूत्रों के अनुसार बदमाश ने एक राउंड फायर किया था, जिसका खोखा पुलिस ने बरामद किया है. हालांकि मुंशी दीपक गोली नहीं, बल्कि भागने के क्रम में गिरने से जख्मी हुआ है.

इसे भी पढ़ें : लगातार पटना के पेट्रोल पंप बन रहे निशाना, अब फतुहा पंप से 2.5 लाख की लूट

गौरतलब है कि इस साल के शुरू से अपराधी लगातार पेट्रोल पंप को निशाना बना रहे हैं. 7 मार्च की रात अपराधियों ने पिस्टल का भय दिखाकर पटना के फतुहा में 2.5 लाख रुपये लूट लिये. विरोध करने पर वहां ड्यूटी कर रहे कर्मचारी से मारपीट भी की गयी थी.

खास बात कि उसी पेट्रोल पंप पर इसी साल 4 जनवरी को भी बदमाशों ने लूट की घटना को अंजाम दिया था. तब अपराधियों के हाथ 2 लाख रुपये में लगे थे.

इसी तरह 18 जनवरी को बख्तियारपुर में लूट की कोशिश की गयी थी. अपराधियों ने सालिमपुर थाने के विद्धिपुर गांव में स्टेट हाइवे 106 पर स्थित पेट्रोल पंप के कर्मचारियों के साथ मारपीट कर सभी कर्मचारियों को केबिन में बंद कर दिया था, फिर कैश काउंटर में रखे 15 हजार से अधिक रुपए बदमाशों ने लूट लिये थे.

इसके अलावा 9 जनवरी को पटना के धनरुआ में स्थित शेखर फिलिंग स्टेशन से करीब 6 लाख रुपये लूट लिये गये थे. तब बदमाशों की संख्या 8 थी.

खास बात​ कि पेट्रोल पंप पर लगातार हो रही लूट के विरोध में पटना में पंप के लोगों ने 11 अप्रैल को हड़ताल की थी तथा विरोध में 12 घंटे के लिए पेट्रोल पंप बंद रखे गये थे. हड़ताल में आइओसी साथ ही बीपीसीएल और एचपीसीएल के भी पेट्रोल पंप शामिल थे.

इसमें पटना पेट्रोलियम डीलर्स एसोसिएशन के अध्यक्ष बृजेंद्र कुमार सिन्हा ने सरकार और प्रशासन से सुरक्षा देने और अपराधियों को तुरंत गिरफ्तार करने की मांग की थी.

इधर बेगूसराय की घटना ने एक बार फिर पेट्रोल पंप वालों को दहशत में ला दिया है.