केंद्र का झटका : मार्च तक गैस सिलेंडर पर सब्सिडी होगी खत्म, पड़ेगा जेब पर असर

गैस सिलिंडर

लाइव सिटीज डेस्क : केंद्र सरकार  ने घरेलु गैस सिलेंडर को लेकर एक बड़ा फैसला करने जा रही है. अब गैस सिलेंडर पर सरकार सब्सिडी खत्म करने की तैयारी कर रही है. केंद्र सरकार के इस कदम से अब सभी उपभोक्ताओं को बाजार दाम पर सिलेंडर खरीदना होगा. 

सरकार ने लक्ष्य रखा है कि अगले साल मार्च तक गैस सब्सिडी को खत्म कर दिया जाए. इसलिए, सरकार ने सार्वजनिक क्षेत्र की तेल कंपनियों को हर माह सब्सिडी गैस सिलेंडर की कीमत में चार रुपये बढ़ाने के आदेश दिए हैं. कंपनियों ने एक जून से इस पर अमल भी शुरू कर दिया है.

केंद्रीय पेट्रोलियम मंत्री धमेंद्र प्रधान ने लोकसभा में एक लिखित प्रश्न के उत्तर में बताया कि सरकार ने 30 मई को तेल कंपनियों को हर माह चार रुपये प्रति सिलेंडर इजाफा करने के निर्देश दिए हैं. ताकि, वित्त वर्ष के अंत (31 मार्च 2018) तक गैस सिलेंडर पर सब्सिडी पूरी तरह खत्म की जा सके. इससे पहले सरकार ने 1 जुलाई 2016 से गैस सिलेंडर की कीमत में हर माह दो रुपये की वृद्धि करने का फैसला किया था. अब तक करीब दस बार यह वृद्धि हुई है. 

सरकार ने जीएसटी लागू होने के बाद 11 जुलाई को एलपीजी गैस सिलेंडर की कीमत में 32 रुपये की वृद्धि की थी। पिछले कई वर्षों में सब्सिडी गैस सिलेंडर की कीमत में यह सबसे अधिक वृद्धि थी। इसमें जीएसटी का असर भी शामिल है.

दिल्ली में सब्सिडी वाले सिलेंडर की कीमत फिलहाल 477 रुपए हैं, जबकि पिछले साल जून में यह 419 रुपए में मिलता था। यानी कि एक साल में कीमत 58 रुपए बढ़ गई. वहीं, बिना सब्सिडी वाला सिलेंडर 564 रुपए में मिल रहा है.

सरकार के फैसले के मुताबिक, जुलाई से मार्च, 2018 तक (8 महीने में) सिलेंडर की कीमत 32 रुपए तक बढ़ेगी. यानी सब्सिडी रेट पर आपको मिलने वाले सिलेंडर की कीमत 509 रुपए हो जाएगी.फिलहाल, गैर-सब्सिडी सिलेंडर के बारे में सरकार की ओर से कुछ नहीं गया है.

बता दें कि  देशभर में 18 करोड़ के ज्यादा कंज्यूमर एलपीजी सब्सिडी का फायदा ले रहे हैं. इनमें पिछले एक साल के दौरान प्रधानमंत्री उज्जवला स्कीम के तहत बांटे गए 2.5 करोड़ कनेक्शन भी शामिल हैं. इसके अलावा 2.66 करोड़ कंज्यूमर गैर-सब्सिडी सिलेंडर इस्तेमाल करते हैं.

रसोई गैस क्षेत्र से जुड़े जानकार मानते हैं कि अभी सब्सिडी और गैर सब्सिडी सिलेंडर की कीमत में 87 रुपये प्रति सिलेंडर का फर्क है. ऐसे में चार रुपए प्रति माह बढ़ाने से सब्सिडी पूरी तरह खत्म नहीं होगी। लिहाजा, केंद्र सरकार अगले कुछ माह में इस राशि को बढ़ा सकती है. इसके साथ अंतरराष्ट्रीय बाजार में एलपीजी की कीमतों में भी कमी होने की संभावना है. इससे सब्सिडी और गैर सब्सिडी गैस सिलेंडर की कीमतों में अंतर और कम हो जाएगा.

केरल के सीएम ने किया सरकार के इस कदम का विरोध

केरल के सीएम पिनरई विजयन ने कहा- ”गैस सिलेंडर पर सब्सिडी खत्म नहीं करना चाहिए. सरकार इस फैसले को वापस ले. इससे आम आदमी की रोजमर्रा के खर्च पर संकट पैदा होगा. जून, 2016 से कीमतें लगातार बढ़ रही हैं. जुलाई, 2017 में भी एक साथ 32 रुपए बढ़ा दिए. केरल में पिछले साल 420 रुपए में मिलने वाला सिलेंडर अब 480 में मिल रहा है.

यह भी पढ़ें-  डबल झटका : आपकी जेब पर अब एलपीजी गैस सिलिंडर की दोहरी मार