दिल्ली में राष्ट्रीय स्वच्छता केन्द्र का पीएम ने किया उद्घाटन, गंदगी भारत छोड़ो का दिया नारा

लाइव सिटीज, सेंट्रल डेस्क : दिल्‍ली में  प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी ने ‘राष्ट्रीय स्वच्छता केंद्र’ का उद्घाटन किया. उद्घाटन के मौके पर प्रधानमंत्री मोदी ने बच्‍चों से संवाद किया और उन्‍हें स्‍वच्‍छता की लड़ाई में अपनी सेना बताया.

प्रधानमंत्री ने कहा‍ कि महात्मा गांधी ने अंग्रेजों से अहिंसा के साथ लड़ाई लड़ी- अंग्रेजों भारत छोड़ो का अभियान चलाया अब हम लोग गंदगी भारत छोड़ो का अभियान चला रहे हैं.  देश को कमजोर बनाने वाली बुराइयां भारत छोड़ें, इससे अच्छा और क्या होगा.



प्रधानमंत्री ने कहा कि इसी सोच के साथ पिछले छह वर्षों से देश में एक व्यापक ‘भारत छोड़ो अभियान’ चल रहा है. गरीबी- भारत छोड़ो… खुले में शौच की मजबूरी- भारत छोड़ो… पानी के दर-दर भटकने की मजबूरी- भारत छोड़ो… भ्रष्टाचार की कुरीति- भारत छोड़ो…

कार्यक्रम को संबोधित करते हुए पीएम ने कहा कि जैसे गंगा जी की निर्मलता को लेकर हमें उत्साहजनक परिणाम मिल रहे हैं, वैसे ही देश की दूसरी नदियों को भी हमें गंदगी से मुक्त करना है. यमुना जी को भी गंदे नालों से मुक्त करने के अभियान को हमें तेज करना है.

प्रधानमंत्री ने कहा कि  ‘गांधी जी कहते थे… स्वराज सिर्फ साहसी और स्वच्छ जन ही ला सकते हैं. स्वच्छता और स्वराज के बीच के रिश्ते को लेकर गांधी जी इसलिए आश्वस्त थे क्योंकि उन्हें यकीन था कि गंदगी यदि सबसे ज्यादा नुकसान किसी का करती है, तो वो गरीब है. जबतक जनता में आत्मविश्वास पैदा नहीं होता, तबतक वो आजादी के लिए खड़ी कैसे हो सकती था? इसलिए, साउथ अफ्रीका से लेकर चंपारण और साबरमती आश्रम तक, उन्होंने स्वच्छता को ही अपने आंदोलन का बड़ा माध्यम बनाया.