डीजीपी समेत पुलिसकर्मियों ने ली शराब नहीं पीने की शपथ, कानून को सख्ती से लागू कराने को बताया प्राथमिकता

लाइव सिटीज,सेंट्रल डेस्क : बिहार के डीजीपी संजीव कुमार सिंघल ने शराबबंदी को सख्ती से लागू कराना अपनी पहली प्राथमिकता बतायी है. आज पुलिस मुख्यालय में उन्होंने पुलिसकर्मियों को शराब नहीं पीने की शपथ दिलायी. इस दौरान उनके साथ सभी पुलिसकर्मियों ने आजीवन शराब नहीं पीने की कसम खाई. बिहार पुलिस ने ये शपथ ली- “अपने जीवनकाल में कभी शराब का सेवन नहीं करूंगा. अगर कभी शराब से जुड़ी गतिविधियों में लिप्त पाया गया तो मैं कार्रवाई के लिए उत्तरदायी होऊंगा”.

बिहार में शराबबंदी है. पिछली सरकार बनते ही नीतीश कुमार ने इसे लागू किया था. जिसको लेकर सबसे बड़ी मानव श्रृखंला बनायी गयी थी. जिस समय शराब बंदी लागू किया गया था उस समय महागठबंधन की सरकार थी. जिसमें जेडीयू, आरजेडी और कांग्रेस पार्टियां एक साथ थी.लेकिन यह सरकार मात्र 18 महीने ही चल पायी. इसके बाद फिर से नीतीश कुमार की जेडीयू और बीजेपी में गठबंधन हो गया.



जब से बिहार में शराबबंदी लागू हुई है. तब से इसको लेकर बिहार की सियासत काफी गरम रही है. लगातार विरोधियों द्वारा इसमें संशोधन की मांग उठायी जा रही है. यहां तक की सत्तापक्ष के हम पार्टी ने भी नीतीश कुमार से हाल ही अपील किया है कि शराबबंदी कानून में जेल में बंद गरीबों को छुड़वाने का उपाय किया जाए.

विपक्षी दलों की माने तो बिहार में शराबबंदी कानून लागू होने के बावजूद बिहार पुलिस लोगों को शराब पीने से नहीं रोक पा रही है. चोरी-छिपे शराब का कारोबार राज्य भर में चल रहा है. कारोबारियों पर नकेल कसने के लिए आज बिहार पुलिस के अधिकारियों के साथ सभी कर्मियों ने भी शराब नहीं पीने की कसम खाई. पुलिसकर्मियों ने कहा कि शराबबंदी कानून को मजबूती से लागू करने में इससे ऊर्जा मिलेगी.